आशा कार्यकर्ता, आशा संगिनी को भी मिलेगा आयुष्मान भारत योजना का लाभ

 
वन
शामली। स्वास्थ्य के क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली आशा कार्यकर्ताओं व आशा संगिनी के लिये अच्छी खबर है। अब उन्हें भी आयुष्मान योजना का लाभ दिया जाएगा। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन निदेशक ने इसके लिए प्रदेश भर के जिलाधिकारियों व मुख्य चिकित्सा अधिकारियों (सीएमओ) को दिशा निर्देश जारी कर दिये हैं।
 मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा.संजय अग्रवाल ने बताया - जिले में कुल 983 आशा कार्यकर्ता और 47 आशा संगिनी हैं। जो स्वास्थ्य सेवाओं में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रही हैं। उन्होंने बताया राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की निदेशक की ओर से जारी दिशा निर्देश के अनुसार जनपद की 983 आशा कार्यकर्ता व 47 आशा संगिनी को आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत लाभ प्रदान किया जाएगा। उन्होंने बताया प्रधानमंत्री जन आरोग्य व मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से आच्छादित आशा कार्यकर्ताओं व आशा संगिनी के परिवारों को प्रति वर्ष पांच लाख रुपये तक का नि:शुल्क उपचार दिया जाएगा। उन्होंने बताया -पात्र परिवारों के समस्त सदस्य भी योजना का लाभ ले सकते हैं। योजना से आच्छादित परिवारों को प्रति वर्ष प्रति परिवार पांच लाख रुपये तक के निशुल्क उपचार की सुविधा दी जाती है। इसके तहत आयुष्मान भारत योजना से आबद्ध निजी व सरकारी अस्पतालों में उपचार की निशुल्क सुविधा मिलती है।
आयुष्मान भारत योजना की नोडल अधिकारी डॉ. भानू प्रकाश ने बताया जनपद में 2. 96 लाख के लक्ष्य के सापेक्ष जनपद में 79517 आयुष्मान कार्ड बनाए जा चुके हैं। शहर के 21 (7 सरकारी व 14 प्राइवेट) अस्पतालों में आयुष्मान भारत योजना की सेवाएं दी जा रही हैं।
डीपीएम आशुतोष श्रीवास्तव ने बताया -ब्लॉक स्तर पर बीसीपीएम व शहर स्तर पर डीसीपीएम द्वारा आशा कार्यकर्ता व आशा संगिनी का आयुष्मान भारत योजना के तहत पंजीकरण शुरू कर दिया गया है।

From around the web