सरकार की वादाखिलाफी से किसानों में उबाल,किया धरना प्रदर्शन

 
78ू77

शामली। किसान मजदूर संगठन पूरन के नेतृव में दर्जनों किसान कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां उन्होंने प्रदेश सरकार पर वादा खिलाफी का आरोप लगाते हुए धरना प्रदर्शन किया।जिसके उपरांत किसानों ने किसान हित और जनहित से जुड़ी 9 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डीएम को सौंपा।जिसमे सभी मांगों को अतिशीघ्र पूरा किए जाने की मांग की गई साथ ही मांगों के पूरी ना होने पर भविष्य में बड़े आंदोलन की चेतावनी भी दी गई है।  

सोमवार को किसान मजदूर संगठन पूरन के पदाधिकारियों के साथ दर्जनों किसान कलेक्ट्रेट पहुंचे। जहां उन्होंने सरकार पर वादाखिलाफी का आरोप लगाते हुए धरना प्रदर्शन किया और एक 9 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन डीएम को सौंपा।किसानों ने बताया कि सरकार द्वारा चुनाव के समय बड़े बड़े वादे किए गए थे।लेकिन चुनाव जीत जाने के बाद भी बीजेपी सरकार ने अपना कोई भी वादा पुरा नहीं किया।जिसके चलते किसानों में सरकार के प्रति रोष व्याप्त है।किसान मजदूर संगठन द्वारा ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि सरकार द्वारा किसानों को 5 वर्षों तक सिंचाई हेतु बिजली फ़्री देने का का वादा किया गया था।लेकिन यह वादा तो पूरा नहीं हुआ उल्टा विद्युत विभाग के अधिकारियों ने किसानों का उत्पीड़न करना शुरू कर दिया है जो कतई भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।किसानों की मांग है कि आवारा पशुओं से किसानों को जल्द से जल्द निजात दिलाई जाए।किसानों का गन्ना बकाया भुगतान मय ब्याज कराया जाए।जब तक किसानों को गन्ना बकाया भुगतान नहीं मिलता तब तक विधत विभाग के अधिकारियों द्वारा उन्हें परेशान न किया जाए।नौजवान युवाओं को रोजगार दिया जाए।इसके अलावा भी कई और मांगे किसानों द्वारा जिलाधिकारी को ज्ञापन के माध्यम से की गई है और सरकार से सभी मांगो को जल्द पूरा किया जाने की मांग की है।इसके अलावा धरना प्रर्दशन कर रहे किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर सरकार अपने वादों को पूरा नहीं करती तो उन्हें मजबूरन बड़े आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ेगा।
 

From around the web