अवैध कालोनियां : एमडीए विभाग से हुई तहसील प्रशासन की वार्ता जल्द होगी बड़ी कार्रवाई 
 

 
d
कैराना। कैराना में नगर की आबादी के चारों ओर मुख्यमार्ग व लिंक मार्गों के किनारों पर जारी अवैध प्रोपर्टी एवं कॉलोनी की फसल लबालब लहरहा रही है। इस फसल के लिए यहां की भूमि जल्द बंजर होती दिखाई दे रही है। तहसील मुख्यालय से एमडीएम विभाग से वार्ता कर इस अवैध कारोबार पर प्रभावी कार्रवाई करने के लिए टीम खाका तैयार कर जल्द बड़ी कार्रवाई की जाएगी। नगर में काटी जारही कालोनी में एक भी वैध कालोनी नहीं है जिसके चलते सभी पर कार्रवाई की जाएगी।
नगर में अवैध कालोनियों में शामिल लोग कुछ दिनों में ही करोड़पति व लखपति बन बैठे है। डीलर अपने खेल को जारी रखने के लिए सत्ताधारियों व अधिकारियों के दरबारों में हाजरी लगाकर एवं साठगांठ कर खूब चांदी काट रहे है। गत पांच दिन पूर्व तहसील प्रशासन की ओर से सांकेतिक कार्रवाई कर इन्हें चेतावनी दी गई थी। एसडीएम शिवप्रकाश यादव ने सभी को सजग करते हुए कहा था कि सभी विभागों से तमाम मानकों को पूरा नहीं करने पर बड़ी कार्रवाई की जाएगी। जिससे तमाम डीलरों में हड़कंप मचा हुआ है। वही वर्षों से डीलरों के संग मिलकर कार्य करने वाले एवं अधिकारियों में रसूख रखने वाले ठेकेदार प्रोपर्टी डीलरों को कार्रवाई से बचाने की झूठी दिलासा देकर उनसे अपना उल्लू सीधा करने में जुटे है। लेकिन जिला प्रशासन की सख्ती के बाद इस अवैध कारोबर पर अंकुश लगने जा रहा है। 
प्रोपर्टी डीलर कार्रवाई से बचने के लिए लेखपालों के चक्कर मे आकर तेजी से कालोनियों की भूमि को एसडीएम कोर्ट में धारा 80 के तहत फाइल संचालित करा दी है। लेकिन मात्र यह परिक्रमा इस अवैध कालोनी के खेल को जीवित रखने के लिए पर्याप्त नहीं है। इनकी पैरवी के लिए तमाम लोग जुटे है।
वैध कालोनियों व स्मार्ट सिटी व अधिकृत कालोनी के लिए एमडीए, तहसील, नगरपालिका, अग्निशमन, जिलापंचायत कार्यालय, विधुत आदि विभागों के नक्से व अनापत्ति प्रमाण पत्र के बाद विकसित होती है कालोनियों। निकासी के लिए सीवर, पार्क व धार्मिक स्थल के किए जाते है प्रबंध।
एमडीए विभाग के अधिकारियों से वार्ता हो गई है। कॉलोनियों के तमाम मानक पूरे नहीं करने वाली सभी कालोनियों पर प्रभावी कार्रवाई की जाएगी। कोई भी प्रोपर्टी डीलर किसी भी व्यक्ति के संपर्क में आकर अपना वक्त जाया न करें। सभी मानक पूरे नहीं करने वालों के खिलाफ निष्पक्ष कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।
तमाम कालोनियों की सूची लेखपालों से बनवाई गई है। कुछ कालोनी छूट गई थी उन्हें भी शामिल किया गया है। सूची जिला मुख्यालय को भेजी गई है। सभी कालोनी को सूची में शामिल किया गया है।

From around the web