शामली में 4 हत्यारोपियों को उम्र कैद,हजारों का अर्थदंड

 
क

कैराना। गोलियां बरसाकर किसान की निर्मम हत्या करने के आरोपी चार सगे भाइयों को कोर्ट ने दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास व अर्थदंड की सजा सुनाई है। कोर्ट ने चारों हत्यारों को सजा भुगतने के लिए प्रदेश के अलग-अलग जेलों में भेजने के निर्देश दिए है। साथ ही, अर्थदंड अदा न करने पर एक-एक वर्ष का अतिरिक्त कारावास भुगतने के आदेश दिए है।

जिला शासकीय अधिवक्ता(क्राइम) संजय चौहान एवं सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता सतेंद्र धीरयान ने बताया कि 11 जनवरी 2013 को झिंझाना क्षेत्र के गांव लपराना निवासी राजबीर को गांव के ही चार सगे भाइयों नरेंद्र, वीरेंद्र, प्रवेंद्र उर्फ प्रमेन्द्र व सुरेन्द्र ने रंजिशन गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतार दिया था। घटना की रिपोर्ट मृतक के भतीजे अनुज की ओर से थाना झिंझाना पर दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने चारों हत्यारोपियों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। विवेचक ने मामले की तफ्तीश करने के बाद आरोप-पत्र न्यायालय में दाखिल किया था। यह मामला कैराना स्थित अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुरेन्द्र सिंह की अदालत में विचाराधीन था। मामले में अभियोजन पक्ष की ओर से सात गवाह कोर्ट के समक्ष पेश किए गए। गुरुवार को न्यायाधीश ने पत्रावलियों के अवलोकन एवं दोनों पक्षों के वरिष्ठ अधिवक्ताओं के तर्क-वितर्क सुनने के पश्चात आरोपी नरेंद्र, वीरेंद्र, प्रवेंद्र उर्फ प्रमेन्द्र व सुरेन्द्र को दोषी करार देते हुए आजीवन कारावास व सात-सात हजार रुपये के अर्थदंड की सजा सुनाई। कोर्ट ने अर्थदंड अदा न करने पर दोषियों को एक-एक वर्ष का अतिरिक्त कारावास भुगतने का आदेश दिया है। इसके अलावा, कोर्ट ने सजा भुगतने के लिए दोषी करार दिए गए सुरेन्द्र को जिला कारागार सीतापुर, परविंदर उर्फ प्रमेन्द्र को अयोध्या तथा वीरेन्द्र व नरेंद्र को शाहजहांपुर भेजने के निर्देश दिए है।

From around the web