ट्रिपल राईडिंग सहित यातायात के नियमों का पालन के लिए शामली में चलाया गया विशेष अभियान 

 
व
शामली। जिला प्रशासन द्वारा दुर्घटनाओं को रोकने के लिए ट्रिपल राईडिंग सहित यातायात के नियमों का पालन किए जाने के लिए लगातार पिछले एक माह से विशेष अभियान चलाया जा रहा हैं। प्रशासन की माने तो अभी तक यातायात के नियमों का उल्लंघन करने वाले सैकडों वाहनों के चालान काटकर सख्ती का संदेश दिया गया है, लेकिन इसके बावजूद शहर में ट्रिपल राईडिंग व यातायात के नियमों की अनदेखी आम आदमी से लेकर पुलिस व प्रशासनिक कर्मचारी भी करने में कोई कोर कसर नही छोड रहे।
देखने में आ रहा है कि सवेरे स्कूल जाने वाले स्कूल छात्र-छात्राऐं अपनी जान की परवाह किए बिना ही ट्रिपल राईडिंग कर स्कूल पहुंच रहे है। यही नही बच्चों की जान जोखिम में डालकर अभिभावक भी कई कई बच्चों को अपनी बाईकों पर बैठकर स्कूल ले जा रहे है। जिससे बच्चों की जान खतरे में तो है ही, लेकिन दुर्घटना होने की संभावना भी बनी रहती है। मंगलवार सवेरे बूंदाबांदी के बीच दर्जनों अभिभावक ऐसे देखे गए, जो अपनी बाईकों पर तीन से चार बच्चों को एक साथ बैठाकर स्कूल ले जाते दिखाई दे रहे थे। बूंदाबांदी के बीच सडक पर हो रही फिसलन में कई अभिभावक फिसलकर चोटिल होने से भी बचे, लेकिन उसका उन पर कोई असर दिखाई नही दिया। यदि आसपास देहात क्षेत्रों की बात करे तो ग्रामीण इलाकों से आने वाले युवा छात्र ट्रिपल राईडिंग को छोड चार से पांच बच्चे एक साथ बाईक पर बैठकर स्कूल कालेज जाते दिख जाते है। यदि ऐसे में अभिभावक जागरूक नही होते तो सडक दुर्घटनाओं में रोक लगाना मुश्किल होगा। पिछले कुछ दिनों में जिले में कई सडक हादसे हुए, जिसमें दर्जनों लोगों को अपनी जान गवानी पडी। दुर्घटनाओं पर रोक लगाए जाने के लिए जिलेभर में एसपी अभिषेक के निर्देश पर लगातार चैकिंग अभियान भी लगाया जा रहा है, जिसमें मंगलवार को करीब 180 वाहनों के चालान काटे गए।

From around the web