कैराना में एडीजे के आवास पर हुई चोरी का राजफाश, तीन गिरफ्तार

 
न

 

कैराना। पुलिस ने पांच दिन पूर्व अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश(एडीजे) के किराए के आवास पर हुई चोरी प्रकरण का राजफाश करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनके कब्जे से चोरी किया गया लैपटॉप, एलईडी, बूफर व घटना में प्रयुक्त बाइक बरामद हुई है। गिरफ्तार आरोपियों में दो सगे भाई भी शामिल है। एसपी ने पुलिस के लिए चुनौती बने चोरी के मामले का खुलासा करने वाली टीम को बीस हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है। पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों का चालान कर दिया है।

अपर पुलिस अधीक्षक ओपीसिंह सिंह ने सोमवार को कोतवाली प्रांगण में प्रेस वार्ता आयोजित करके बताया कि विगत 16/17 नवंबर को कस्बे के मुख्य पानीपत-खटीमा राजमार्ग पर अंबा मैरिज होम के निकट स्थित अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश(एडीजे) के किराए के आवास का ताला तोड़कर लैपटॉप, एलईडी व बूफर चोरी कर लिया गया था। घटना के खुलासे को एसओजी व सर्विलांस समेत चार टीमों को लगाया गया था। गत रविवार देर रात्रि करीब पौने नौ बजे पुलिस टीम ने चेकिंग के दौरान गांव मन्नामाजरा के निकट स्थित बाईपास ओवरब्रिज के नीचे से घटना को अंजाम देने वाले तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया, जिनके कब्जे से एडीजे के आवास से चोरी हुआ लैपटॉप, एलईडी, बूफर व घटना में प्रयुक्त बाइक बरामद हुई। गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में अपना नाम व पता शशांक उर्फ सैंकी व मयंक निवासीगण मोहल्ला बेगमपुरा कस्बा कैराना तथा दीपक निवासी मोहल्ला पंसारियान कस्बा शामली बताया। गिरफ्तार आरोपियों में शशांक उर्फ सैंकी व मयंक सगे भाई है। तीनों आरोपियों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत करके उन्हें जेल भेज दिया गया है।

शातिर किस्म के है गिरफ्तार किए गए दो आरोपी

एएसपी ने बताया कि एडीजे के किराए के आवास पर चोरी के प्रकरण में गिरफ्तार किए गए आरोपियों में शशांक उर्फ सैंकी व दीपक शातिर किस्म के है।  शशांक उर्फ सैंकी व दीपक गहरे दोस्त है, जिन्होंने उत्तराखंड के रुड़की, मुजफ्फरनगर, झिंझाना व कांधला क्षेत्र में साथ मिलकर चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया है। आरोपी दिन के समय बंद मकानों की रेकी करने के बाद रात के समय चोरी की घटना को अंजाम देते थे। उन्होंने बताया कि आरोपी दीपक किसी भी ताले को मात्र तेरह सेकेंड में खोल देता है।

शामली के गंदे नाले से बरामद हुआ चोरी हुआ सामान

एएसपी ने बताया कि आरोपी शशांक उर्फ सैंकी ने चोरी के सामान को एक दिन तक अपने पास रखा। एडीजे के आवास पर चोरी की खबर मीडिया में प्रकाशित होने के बाद आरोपी घबरा गए। इसके बाद उन्होंने चोरी किये गए लैपटॉप, एलईडी व बूफर को तोड़कर शामली के मोहल्ला श्रीपाल में गंदे नाले में फेंक दिया। आरोपियों की निशानदेही पर नाले की सफाई कराकर वहां डाला गया सामान बरामद किया गया। इसके अलावा आरोपियों से झिंझाना थानाक्षेत्र में कुछ माह पूर्व हुई चोरी के दो हजार रुपये भी बरामद हुए है। एसपी अभिषेक झा ने घटना का खुलासा करने वाली टीम को बीस हजार रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।

From around the web