शामली में 21 जिलों को मिलाकर अलग राज्य पश्चिमांचल बनाने की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट में धरना

 
1

शामली। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहे हैं वैसे वैसे अलग राज्य बनाने की मांग भी तेज होने लगी है। आज जनपद शामली में 21 जिलों को मिलाकर अलग राज्य पश्चिमांचल बनाने की मांग को लेकर सर्व समाज उत्थान समिति के लोगों ने कलेक्ट्रेट में धरना प्रदर्शन किया और कहा कि चुनाव से पहले पहले केंद्र सरकार 21 जिलों को मिलाकर एक अलग राज्य की घोषणा करें नही तो आने वाले समय मे उनका एक बड़ा आंदोलन होगा।

आपको बता दें कि मामला जनपद शामली का है जहां पर आज सर्व समाज उत्थान समिति के लोगों ने उत्तर प्रदेश के 21 जिलों को अलग कर एक नया राज्य पश्चिमांचल बनाने की मांग को लेकर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है। उनका यह धरना प्रदर्शन आज शाम तक चलेगा। धरना प्रदर्शन कर रहे लोगों का कहना है कि जिस प्रकार उत्तराखंड को 13 जिलों को लेकर उत्तर प्रदेश से अलग राज्य बना दिया गया था उसी प्रकार 21 जिलों को लेकर एक अलग राज्य पश्चिमांचल की घोषणा सरकार को करनी चाहिए। लोगों का कहना है कि जब केंद्र सरकार धारा 370 जैसी धारा हटा सकती है तो फिर चुनाव से पहले इन 21 जिलों को लेकर एक अलग राज्य की घोषणा भी कर सकती है। धरना दे रहे लोगों का यह भी कहना है कि जिस प्रकार उत्तराखंड राज्य अलग होकर तरक्की कर रहा है उसी प्रकार यह 21 जिलों का अलग राज्य होकर भी तरक्की करेगा और यह अलग राज्य बनवाने के लिए वह हर संघर्ष को तैयार हैं और अगर इसके लिए उन्हें बलिदान भी देना पड़ा तो वह जरूर देंगे। सर्व समाज उत्थान समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष रण कुमार ने कहा कि यदि सरकार उनकी मांग नहीं मानती है तो वह इन 21 जिलों में जाकर वहां के लोगों को अलग राज्य की मांग को लेकर जागरूक करेंगे और सभी जिलों के लोगों को लेकर एक बड़ा आंदोलन करेंगे और आंदोलन इस प्रकार होगा जिस प्रकार उत्तराखंड के लोगों ने किया था। रणकुमार ने यह भी कहा कि अलग राज्य की मांग को लेकर अगर उन्हें बलिदान भी देना पड़ा तो वह पीछे नहीं हटेंगे।

From around the web