शामली में शांतिपूर्ण चुनाव कराने के लिए जिला प्रशासन ने कसी कमर

 
व

शामली। चुनाव आयोग द्वारा उत्तर प्रदेश में चुनाव की घोषणा के बाद शामली जनपद में पहले फेज में चुनाव निर्धारित हुआ है इस संबंध में जिला अधिकारी व जिला निर्वाचन अधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि प्रथम पेज के इलेक्शन के लिए उन्होंने सभी तैयारियां पूरी कर ली है।

जिलाधिकारी जिला निर्वाचन अधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि 9 लाख 56 हजार मतदाता जनपद में है, हाल ही में 18-19 साल के 10,000 मतदाताओं को वोटर लिस्ट में शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि शामली जनपद में 3 विधानसभाये हैं, तीनों में 10 फरवरी को चुनाव होना है। इसके लिए 459 पोलिंग सेंटर तथा 1067 पोलिंग बूथ बनाए गए हैं। कोविड के चलते चुनाव आयोग ने जो गाइडलाइन जारी की है, उसी के अनुपालन में पोलिंग बूथ के बाहर एक हेल्प डेस्क बनाई जाएगी,जिसमें मतदाताओं को मास्क ग्लाउज दिए जाएंगे। लाइन में भी सोशल डिस्टेंस का पालन कराया जाएगा। पब्लिक में भी अलग से इस बात के दिशा निर्देश दिए जाएंगे जिससे सोशल डिस्टेंस का पालन हो सके। उन्होंने बताया कि पूरे जनपद को 11 जोनल और 94 सेक्टर में बांटा गया है। इसके लिए जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेट की नियुक्ति पहले से ही कर ली गयी है। तथा उनके द्वारा सभी पोलिंग बूथों का निरीक्षण भी कर लिया गया है। चुनाव के लिए फ्लाइंग स्क्वाड, मीडिया सेंटर सर्टिफिकेट टीम, कंट्रोल रूम सभी एक्टिव कर लिए गए हैं। दिव्यांग और 80 वर्ष की उम्र से अधिक के लोगों के लिए पोस्टल बैलेट देने की व्यवस्था की गई है। वह मतदाता की इच्छा पर के ऊपर निर्धारित रहेगा। उन्होंने बताया कि शामली सीमावर्ती जनपद है। हरियाणा के पानीपत और करनाल प्रशासन के साथ में संयुक्त मीटिंग कर ली गई है और बॉर्डर पर कैमरे भी लगाए गए हैं। कैराना में विगत चुनाव के दौरान कैश व निकर की शिकायत मिलने के बाद यहां पर अलग से टीम तैनात रहेगी। जिसमें अलग से ऑब्जर्वर तैनात होंगे। उन्होंने बताया कि जनपद में 3 पिंक बूथ बनाए जाएंगे जिनका संचालन विमेन करेंगी चुनाव आयोग के निर्देश के अनुसार पूरी कार्रवाई की गई है। आगामी आदेश तक रैली और सभी प्रकार की सभाओं पर रोक लगाई गई है। आगे जो चुनाव आयोग के निर्देश होंगे उसी का पालन किया जाएगा। सोशल मीडिया पर निगरानी के लिए जिला सूचना अधिकारी के निर्देशन में टीम बनाई गई है, जो सोशल मीडिया की मॉनिटरिंग करती रहेगी और उसके खर्चे को भी प्रत्याशी के खर्चे में जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि शिकायत के निस्तारण के लिए चुनाव आयोग ने सी विजिल ऐप बनाई है इस ऐप को कोई भी व्यक्ति डाउनलोड कर सकता है। तथा चुनाव से संबंधित शिकायत की ऑडियो वीडियो इस पर भेज सकता है। आर ओ को इसकी शिकायत पहुंचते ही तुरंत ही उनके द्वारा शिकायत का निस्तारण कर, जानकारी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जिला जिला निर्वाचन टीम पूरी तरह से लक्षण के लिए तैयार है।इस दौरान पुलिस अधीक्षक ने जानकारी देते हुए बताया कि इसके अलावा सुरक्षा व्यवस्था को लेकर भी पूर्ण रूप से तैयारियां कर ली गई है।जिसके अन्तर्गत समीपवर्ती राज्य हरियाणा यूपी  बॉर्डर की पुलिस चौकियों पर विशेष अभियान चलाए जाएंगे।जिसमे हरियाणा से शराब तस्करी करने वाले शराब तस्करो पर कार्यवाही की जाएगी।उन्होंने कहा कि चुनाव को लेकर कोई भी कोताही नहीं बरती जाएगी इस दौरान यदि कोई व्यक्ति असामाजिक गतिविधियों में लिप्त पाया जाता है तो उस पर भी कार्यवाही की जाएगी।इसके अलावा कोई राजनैतिक पार्टी हो या आम आदमी यदि कोई भी आचार संहिता का उल्लंघन करता है तो निर्वाचन आयोग के नियमनुसार कड़ी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

From around the web