प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी के विरोध में दर्जनों कांग्रेसियों ने दी गिरफ्तारी

 
1

शामली। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों की बीजेपी नेताओं काफिले की गाड़ियों से कुचलकर मौत हो जाने की घटना को लेकर पिछले तीन दिनों से उत्तर प्रदेश की अन्य राजनीतिक पार्टियों ने बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। जिसमें मृतक किसानों के परिजनों से मिलने जाते समय कांग्रेस पार्टी की नेता प्रियंका गांधी की गिरफ्तारी होने के बाद कांग्रेसियों में भी आक्रोश दिखाई दे रहा है। जहां शहर के सुभाष चौक पर दर्जनों कांग्रेसियों ने धरना प्रदर्शन करते हुए एसडीएम को महामहिम राष्ट्रपति के नाम एक ज्ञापन सौंपकर सामूहिक गिरफ्तारी देकर प्रियंका गांधी को रिहा करने की मांग की है।
आपको बता दें कि तीन दिन पूर्व उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुए बवाल में किसानों की मौत हो जाने के बाद मृतक किसानों के परिजनों से मिलने जा रही कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को जिला सीतापुर से गिरफतार किए जाने से कांग्रेस पार्टी में आक्रोश है। जिसके चलते मंगलवार को शहर के सुभाष चौक पर जिला अध्यक्ष समेत दर्जनों कांग्रेसियों ने धरना प्रदर्शन किया। जिसके उपरांत उन्होंने एसडीएम शामली संदीप कुमार को ज्ञापन सौंपते हुए दर्जनों की संख्या में सामूहिक गिरफ्तारी देते दी।जिसमे कांग्रेस पार्टी ने राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपते हुए लखीमपुर खीरी की घटना को लोकतंत्र की हत्या करार दिया है। कांग्रेस पार्टी के जिलध्यक्ष ने बताया की जिस तरह से प्रियंका गांधी को अन्नदाता के परिजनों से मिलने जाते वक्त असंवैधानिक तरीके से गिरफ्तार किया गया है। उससे साफ तौर पर सरकार की तानशाही है। उन्होंने प्रधानमंत्री के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ के नारे पर तंज कसते हुए कहा कि प्रियंका गांधी देश की वो बेटी है जिसकी दादी और पिता ने देश के लिए शहादत दी है। उन्होंने कहा कि सरकार की इसी तानाशाही के खिलाफ कांग्रेस शुरू से ही मोर्चा खोलती आई है। जिसके चलते उन्होने अपने करीब 80 पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के साथ एसडीएम को सामूहिक गिरफ्तारी देकर अपनी नेता प्रियंका गांधी को रिहा किए जाने की मांग की है।

From around the web