शामली में बागपत के दर्जनों लोगों ने किया सीएमओ कार्यालय का घेराव, झोलछाप डॉक्टर पर की कार्रवाई की मांग 

 
1

शामली। बागपत के गांव किरठल के दजर्नों लोगों ने सीएमओ कायार्लय का घेराव करते हुए स्वास्थ्य विभाग पर गभर्वती महिला के उपचार में बरती गई लापरवाही करने वाले चिकित्सक के खिलाफ कोई कायर्वाही न किए जाने का आरोप लगाया। उन्होंने बिना रजिस्ट्रेशन के चल रहे हाॅस्पिटल को सील करने के बावजूद भी सांठगांठ करते हुए स्वास्थ्य विभाग पर सील हटाने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

बागपत के थाना रमाला के गांव किरठल निवासी प्रदीप चौहान पुत्र सोहनवीर सिंह एक दजर्न लोगों ने गुरुवार को सीएमओ डा. संजय अग्रवाल को पत्र देकर बताया, उसकी पत्नी प्रियंका को गत 16 जनवरी को पेट में दर्द हो गया था। जिससे पत्नी को कांधला में डा. इकलेश चौहान के पास भर्ती कराया गया। जिसमें पत्नी के पेट में 4 माह का बच्चा था। आरोप है कि डाॅक्टर ने बिना पूछे ही बच्चे को गिरा दिया और पत्नी का इलाज किया। जिससे उसको आराम नहीं मिला। 2 फरवरी को दोबारा चिकित्सक को दिखाया गया। जिसमें चिकित्सक द्वारा अल्ट्रासाउंड कराया गया, लेकिन अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट न देकर हाॅस्पिटल से चलता कर दिया गया। पीड़ित ने बताया कि महिला को आराम न मिलने के बाद 3 फरवरी को  मेट्रो हाॅस्पिटल लेकर पहुंचे, जहां से आनंद हाॅस्पिटल के लिए 4 फरवरी को रेफर किया गया। जहां चिकित्सकों ने बताया कि महिला के पेट की  आंत फटने के कारण पेट में इंफेक्शन हो गया है। जिसका इलाज किया जाएगा। आरोप है,गत छह अप्रैल को चिकित्सक की शिकायत स्वास्थ्य  विभाग के अधिकारियों से की गई। जिसमें 12 अप्रैल को जांच करते हुए डाॅक्टर का कोई रजिस्ट्रेशन नहीं मिला और डाॅक्टर द्वारा इलाज में लापरवाही बरती गई थी। जिस पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने अस्पताल को सील कर दिया था, लेकिन आजतक कोई एफआईआर दर्ज नहीं हुई। पीड़ित ने आरोप लगाया कि 7 जुलाई को हाॅस्पिटल की सील हटा दी और चिकित्सक से सांठगांठ करते हुए कोई कार्रवाई नहीं की। पीड़ित ने उक्त चिकित्सक के खिलाफ मुकदमा दजर् कराकर कारर्वाई किए जाने की मांग की है।

From around the web