शामली में कोरोना पर काबू पाने के लिये उद्यमी करेंगे सहयोग, दो मीट्रिक टन का ऑक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी 

 
शामली में कोरोना पर काबू पाने के लिये उद्यमी करेंगे सहयोग, दो मीट्रिक टन का ऑक्सीजन प्लांट लगाने की तैयारी

शामली -आईआईए व साइमा के उद्यमियाें ने जिले में बढ रहे कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण पाने के लिए यहां जिला प्रशासन को हर संभव सहयोग देने का आश्वासन दिया है।
उद्यमियों ने कहा कि किसी भी मरीज की मेडिकल उपकरण की कमी से जान नहीं जानी चाहिए इसके लिए सभी उद्यमी अपना पूरा सहयोग देने को तैयार है। उद्यमियों ने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द शामली में दो मीट्रिक टन प्रतिदिन आक्सीजन देने वाला प्लांट भी लगाया जाएगा तथा प्रशासन के सहयोग से जिले के हर गांव में एक-एक आक्सीमीटर भी पहुंचाया जाएगा।
आईआईए व साइमा के उद्यमियों ने रविवार को प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सुरेश राणा, डीएम जसजीत कौर, एसपी सुकीर्ति माधव, सीएमओ संजय अग्रवाल के साथ जूम ऐप से एक बैठक का आयोजन किया। बैठक का आयोजन लोगों  के मन से कोरोना संक्रमण के डर को हटाकर उन्हें जागरूक करने के लिए किया गया।
श्री राणा ने कहा कि सोमवार को शामली में चार टन आक्सीजन पहुंच जाएगी जिससे आक्सीजन संबंधी समस्याओं का समाधान हो सकेगा। उन्होंने सभी उद्यमियों व आम लोगों से भी अपील की कि वे व्हाट्सअप व अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों के मन में कोरोना संक्रमण के डर को दूर करें ताकि कोविडग्रस्त मरीजों  का हौंसला बढे और वे जल्द रिकवर हो सके।
कैबिनेट मंत्री ने उद्यमियों का आहवान किया कि वे ज्यादा से ज्यादा आक्सीजन कांस्टेंटेªटर खरीदकर जरूरतमंद लोगों को उनकी जरूरत के हिसाब से मुहैया कराएं। उन्होंने इसके लिए अपनी निधि से 30 लाख देने की भी घोषणा की। मीटिंग में सीएमओ डा. संजय अग्रवाल ने बताया कि जिले में दवाईयों की कोई कमी नहीं है। वेंटीलेटर के स्थान पर हाई फ्लो कैनल आक्सीजन मशीनों का भी प्रयोग हो रहा है।
डीएम जसजीत कौर ने बताया कि शामली में 24 वेंटीलेटर है जिनके लिए बहुत जल्द तकनीशियनों की कमी दूर कर दी जाएगी। एसपी सुकीर्ति माधव ने भी उद्यमियों से जरूरतमंद लोगोें की मदद करने का आहवान किया। साइमा अध्यक्ष अंकित गोयल, अशोक बंसल, अनुज गर्ग सहित अन्य उद्यमियों ने आश्वासन दिया कि बहुत जल्द शामली में दो मीट्रिक टन प्रतिदिन आक्सीजन का प्लांट लगाया जाएगा, साथ ही जिला प्रशासन के सहयोग से प्रत्येक गांव में एक-एक आक्सीमीटर पहुंचाने का काम भी किया जाएगा।

From around the web