शामली में भैसा-बोगी कृष्णा नदी में पलटी, युवा दम्पत्ति की हुई दर्दनाक मौत, 3 बेटियां बिलखती छोड़ गए 

 
न

शामली । गांव मतनावली में खेत से भैंसा बुग्गी में सवार होकर पशुओं के लिए हरा चारा लेने जा रहे एक किसान की भैंसा बुग्गी कृष्णी नदी में पलट गई जिससे उस पर सवार दो व्यक्ति व एक महिला नदी में डूब गए जिसमें दंपति की मौत हो गई वहीं दूसरे व्यक्ति को ग्रामीणों ने नदी से सकुशल बाहर निकाल लिया। सूचना पर प्रशासनिक  अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए और स्थानीय पुलिस ने दोनों शव को कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम  के लिए भेज दिया है।

कांधला थाना क्षेत्र के गांव मतनावली निवासी नीटू कश्यप अपनी पत्नी रूबी और अपने भतीजे गौतम के साथ भैंसा बुग्गी में सवार होकर खेत से  हरा चारा लेने के लिए जा रहा था। बताया जाता है कि जैसे ही नीटू कश्यप कृष्णी नदी पार कर चारा लेने के लिए जा रहा था तभी अचानक  भैंसा बुग्गी नदी में पलट गई जिससे भैंसा बुग्गी पर सवार महिला सहित दोनों व्यक्ति नदी में डूब गए। घटना की जानकारी मिलते ही दर्जनों  ग्रामीण  मौके पर पहुंचे, जिनमें से कुछ ने नदी में कूदकर नीटू व गौतम को बाहर निकाला जिसमें नीटू की मौके पर ही मौत हो गई वहीं नीटू की पत्नी  रूबी नदी में डूब जाने से लापता हो गई, जिसका ग्रामीणों सहित प्रशासन ने घंटों सर्च  अभियान चलाकर महिला का शव भी नदी से बरामद कर  लिया। सूचना मिलते ही  अधिकारी भी घटनास्थल पर पहुंच गए और कांधला पुलिस ने भी मौके पर पहुंच कर दोनों शवों को अपने  कब्जे में लेते हुए पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और आगे की वैधानिक कार्रवाई  शुरू कर दी है। दंपति की मौत से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

जिलाधिकारी जसजीत कौर ने बताया कि ग्राम मतनावली निवासी नीटू पुत्र चन्दू आयु 30 वर्ष जाति कश्यप व उसकी पत्नी रूबी आयु 26 वर्ष  की आज प्रातः 9 बजे कृष्णी नदी पार करते समय दुघर्टना वश मृत्यु हो गई। उन्होंने कहा कि तुरंत एसडीएम व सीओ ने मौके पर पहुंचकर गोताखोरों की टीम बुलाकर शवों को बाहर निकलवाया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। जिलाधिकारी ने कहा कि नीटू के 3 पुत्रियां  वंशिका, अंशिका व राममतेरी आयु 6, 4 और 2 वर्ष  है। मृतक नीटू के पिता चंदू पुत्र कबूल के नाम पर ग्राम लिसाढ में कृषि भूमि है। जिलाधिकारी ने कहा कि मृतकों को दैवी आपदा योजना के तहत लाभ दिया जाने की कारर्वाई प्रारंभ कर दी गई है।

From around the web