शामली में डीएम ने चीनी मिलों को किसानों का शत-प्रतिशत भुगतान करने के दिए कडे निर्देश

 
म
शामली। डीएम जसजीत कौर ने चीनी मिलों को किसानों का शत-प्रतिशत भुगतान करने के कडे निर्देश दिए हैं। डीएम ने कडी हिदायत दी कि शत-प्रतिशत भुगतान न करने वाली चीनी मिलों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। 
शुक्रवार को डीएम जसजीत कौर की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में किसानों के पेराई सत्र 2020-21 के अवशेष गन्ना मूल्य भुगतान तथा आगामी पेराई सत्र 2021-22 के संचालन को लेकर बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में डीएम ने पेराई सत्र 2020-21 का प्रत्येक चीनी मिलवार किसानों के देय भुगतान की स्थिति जानी। जिला गन्ना अधिकारी विजय बहादुर सिंह ने बताया कि चशामली चीनी मिल द्वारा 366.46 करोड़ के सापेक्ष 283.25 करोड का भुगतान किया है। ऊन चीनी मिल द्वारा 337.10 करोड के सापेक्ष 276.17 एवं थानाभवन चीनी मिल द्वारा 439.40 करोड़ के सापेक्ष 274.08 करोड का भुगतान किया है। बैठक में पेराई सत्र 2020-21 का अवशेष भुगतान विगत बैठक में तय किए गए निर्धारण के अनुसार ना होने के चलते डीएम ने कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए सभी चीनी मिलों के प्रतिनिधियों को तत्काल भुगतान करने के निर्देश दिए। डीएम ने कहा कि यदि किसानों के अवशेष गन्ना मूल्य भुगतान में किसी भी प्रकार की कोताही बरती जाती है तो संबंधित चीनी मिल के खिलाफ कठोर कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। डीएम ने ठंड एवं कोहरे के मौसम को दृष्टिगत तीनों चीनी मिलों को मिल गेट पर गन्ना आपूर्ति करने वाले समस्त वाहनों पर उत्तम क्वालिटी के रिफ्लेक्टर लगवाने एवं क्रय केंद्र से चीनी मिल गेट पर आपूर्ति करने वाले ट्रकों के पीछे निकले गन्ने पर रिफ्लेक्टर युक्त कपड़ा लगाने के कड़े निर्देश दिए। बैठक मंे चीनी मिल शामली से वीसी त्यागी यूनिट हेड, कुलदीप पिलानिया महाप्रबंधक गन्ना, थानाभवन से वीरपाल सिंह यूनिट हेड, जेबी तोमर महा प्रबन्धक एवं ऊन मिल से अनिल कुमार अहलावत महा प्रबन्धक गन्ना भी मौजूद रहे। 

From around the web