शामलीः पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट की बैंच बनाने की बार एसोसिएशन की मांग, डीएम को सौंपा ज्ञापन 

 
1
शामली। जिला बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने पश्चिम में हाईकोर्ट बैंच की स्थापना की मांग को लेकर जिलाधिकारी से माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भेजा है। जिसमें उन्होंने पश्चिम के लोगों की समस्याओं को देखते हुए जल्द से जल्द हाईकोर्ट बैंच की स्थापना कराये जाने की मांग की है। 
सोमवार को जिला बार एसोसिएशन के अध्यक्ष बिजेन्द्र कुमार के नेतृत्व में अधिवक्ताओं का एक प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी जसजीत कौर से मिला और राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन देकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट बैंच स्थापित किए जाने की मांग की। राष्ट्रपति को भेजे ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि उत्तर प्रदेश की जनसंख्या 23 करोड है, जबकि उत्तर प्रदेश में एक हाईकोर्ट इलाहबाद में स्थित है और एक बेंच लखनऊ में स्थित है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जनता को न्याय पाने के लिए इलाहबाद उच्च न्यायलय जाना पडता है, जिसके वाद कार्यो का अत्यंत समय व धन गवांना पडता है। सन 1982 से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हाईकोर्ट की मांग को लेकर शनिवार की हडताल चली आ रही है। जबकि कई बार 6-6 माह से अधिक की हडताल हो चुकी है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों की दूरी 350 किलोमीटर से लेकर 800 किलोमीटर है। जबकि उत्तर प्रदेश सरकार व केन्द्र सरकार व उच्चतम न्यायलय दिल्ली, उच्च न्यायालय इलाहबाद की अवधारना है कि आम जन को सस्ता व सुलभ न्याय उपलब्ध कराया जाये। इसलिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश की जनता को सस्ता एवं सुलभ न्याय दिलाने के लिए पश्चिमी उत्तर प्रदेश में उच्च न्यायलय की खंडपीठ स्थापित कराये जाना न्याय हित में आवश्यक है। इस अवसर पर इशरज जहां एडवोकेट, नीलम पुरी, संजीव कुमार गर्ग, दिलशाद अली, रूपेश कुमार, आसमौहम्मद, अमित शर्मा, मुकेश कुमार, प्रदीप पंवार, सत्यपाल कश्यप, अरूण सिंह, प्रताप सिंह, रवि गर्ग, सन्नी कुमार आदि मौजूद रहे। 
 

From around the web