कोरोना महामारी में ऑक्सीजन मुहैया कराने वाले व्यापारी सरकारी कार्यालयों के चक्कर काटने को मजबूर, नहीं मिल रहे सिलेंडर

 
1

शामली। कोरोना महामारी के दौरान जनपद में दिन-प्रतिदिन की एक ओर कोरोना के केस बढ़ रहे थे। वहीं उन मरीज लोगों की मदद के लिए और स्वास्थ्य विभाग के सहयोग करने वाले जिले के कुछ ही व्यापारी थे। जहां उन्होंने स्वास्थ्य विभाग का सहयोग किया, तो वहीं अब ऑक्सीजन सिलेंडर देने वाले  व्यापारी अब सिलेंडर वापिस लेने के लिए स्वास्थ्य विभाग से लेकर जिलाधिकारी के ऑफिस पर चक्कर लगा रहे हैं। वहीं उनका प्रतिदिन हजारों का नुकसान हो रहा है।

देश में जहां कोरोना महामारी का तांडव मचा हुआ था। वहीं जनपद में भी कोरोना ग्रस्त लोगों को बचाने के लिए शासन-प्रशासन के लोगों के साथ कुछ सामाजिक संगठन व सामाजिक लोगों ने भी उनका सहयोग किया था। कोरोना ग्रस्त लोगों को समय से ऑक्सीजन मुहैया कराने के लिए कुछ व्यापारियों ने ऑक्सीजन सिलेंडर देकर सहयोग किया था। जिसमें अब जहां पिछले 10 दिनों से जनपद में कोई भी कोरोना केस सामने नहीं आया। वहीं कोरोना महामारी में सहयोग करने वाले व्यापारियों अब अपने ऑक्सीजन सिलेंडर वापिस लेने के लिए सीएमओ ऑफिस से लेकर जिला अधिकारी ऑफिस तक चक्कर काट रहे।  उक्त मामले में पीड़ित व्यापारी का कहना है कि हम लोगों ने स्वास्थ्य विभाग के सहयोग के लिए कोरोना महामारी में अपने 38 ऑक्सीजन सिलेंडर बालाजी गैस सर्विस के नाम से और 10 सिलेंडर दूसरी गैस एजेंसी से उपलब्ध कराये थे।  कोरोना महामारी में जहां हम लोगों ने सहयोग के लिए शामली के जिला हॉस्पिटल को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया कराए थे लेकिन अब जहां उनका कोई काम नहीं है और ना ही वह अब उनके लिए किसी यूज के हैं। तब भी हमारे ऑक्सीजन सिलेंडर हम लोगों को वापसी नहीं दिए जा रहे हैं वहीं उक्त मामले में हम लोग सीएमओ से लेकर जिलाधिकारी तक कई बार मिल चुके हैं सीएमओ से मिलने के बाद उन्होंने कहा कि आप रिलीजिंग आर्डर ले आए। जिलाधिकारी ने जबकि रिलीजिंग ऑर्डर कर दिए लेकिन सीएमओ तक अभी तक भी वह नहीं पहुंचे। पीड़ित व्यापारी का कहना है कि कोरोना महामारी स्वास्थ्य विभाग की हेल्प करने के बाद भी अब सारी भागा दौड़ी हम लोगों की ही है।

From around the web