सरकार ने नहीं किये किसानों से वायदे पूरे, खाप चौधरी फिर शुरू कर सकते है आंदोलन !

 
न

शामली। शहर के प्रगति मार्केट स्थित बैनिवाल खाप के चौधरी अमित बेनिवाल के कार्यालय पर खाप चौधरियों की एक बैठक का आयोजन किया गया। इसमें कई खापों के चौधरी मौजूद रहे। जिसमें गन्ना बकाया भुगतान सहित किसान आदोंलन से जुड़े तमाम मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की गई। खाप चौधरियों द्वारा सरकार के किसानों के प्रति उदासीन रवैए के चलते किसान आंदोलन को पुर्नजीवित करने की बात कही गई है।
आपको बता दें कि सोमवार को शहर के प्रगति मार्केट स्थित बेनिवाल खाप के चौधरी अमित बेनिवाल के कार्यालय पर खाप चौधरियों की एक बैठक आयोजित हुई। जिसमें सर्व खाप मंत्री सुभाष बालियान सहित कई खापों के चौधरी शामिल हुए। खाप चौधरियों ने बताया कि  अभी कुछ दिनों पहले हाईकोर्ट द्वारा गन्ना भुगतान पर ब्याज दिए जाने का आदेश दिया गया था। जिसमे सरकार द्वारा 22 शुगर मिलों को गन्ना भुगतान करने के आदेश भी दिए गए थे। लेकिन बाद में सरकार अपने आप सुप्रीम कोर्ट में पहुंच गई है। सरकार को सुप्रीम कोर्ट में नही जाना चाहिए था। खाप चौधरियों ने कहा कि  सरकार की करनी और कथनी में अन्तर है। किसान आदोंलन में भी सरकार ने जो आश्वासन दिया था , वह पूरा नहीं किया जा रहा है ।उन्होंने कहा कि  अगर किसान हित से जूडे मुद्दों पर चर्चा नही होती तो सभी खापें एक जुट होकर किसान आदोंलन को पुर्नजीवित करने का काम करेगी। खाप चौधरियों ने कहा कि सरकार द्वारा किसान आंदोलन के समझौते के समय जो आश्वासन दिए गए थे। उसे करीब 1 माह से ज़्यादा बीत चुका है लेकिन ना तो किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज मुकदमें वापस हुए है और ना ही किसान आंदोलन के दौरान मरने वाले शहीद किसानों के परिवारों को मुआवजा दिया गया है और ना ही एमएसपी पर गारंटी का कानून बनाया गया। खाप चौधरियों ने कहा कि आगामी 15 तारीख को किसान संगठनों की एक मीटिंग होगी जिसमें सरकार द्वारा जो वायदे किए गए थे वो पूरे क्यों नहीं किए गए तो इस पर चर्चा की जाएगी। उसके बाद हम इस आंदोलन को पुर्नजीवित करेंगे और अपने अधिकारों को लेकर रहेंगे। बैठक के दौरान सर्वखाप मंत्री सुभाष बालियान,निर्वाल खाप के चौधरी राजबीर सिंह, बेनीवाल खाप के चौधरी अमित बेनीवाल, देशवाल खाप के चौधरी सुखबीर सिंह, कुंडू खाप के चौधरी उपेन्द्र चौधरी, बुडीयान खाप के चौधरी सचिन जावला आदि  मौजूद रहे।

From around the web