वर्षों का आंदोलन घंटो में खत्म नहीं होगा: नरेश टिकैत

 
ू

शामली। उत्तर प्रदेश के जनपद शामली में भाईचारा सम्मेलन में पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने तीनों कृषि कानून वापसी पर कहा कि बिल वापसी को लेकर उन्हें लिखतम चाहिए बखतम नहीं। टिकैत ने कहा कि वर्षो का आंदोलन घंटों में खत्म नहीं होगा टिकैत ने कहा कि बखतम में तो 2014 में 450 रुपए कुंतल गन्ने का भाव कहा था लेकिन 2021 में अब तक 350 रुपए ही पहुंचा है।
आपको बता दें कि जनपद शामली के थाना आदर्श मंडी क्षेत्र के गांव गोहरपुर में आज भाईचारा सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमें कई खाप चौधरियों ने शिरकत की। भाईचारा सम्मेलन में पहुंचे भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने तीनों कृषि कानून पर कहा कि उन्हें तीनों कृषि कानून वापसी लिखतम में चाहिए बखतम में नहीं। टिकैत ने कहा कि 2014 में प्रधानमंत्री ने बखतम में उन्होंने 450 रुपए कुंतल गन्ने का भाव देने का वादा किया था लेकिन 2021 में अब जाकर गन्ने का भाव 350 रुपए कुंतल हुआ है तो इनकी बातों पर यकीन हम कैसे करें। टिकैत ने कहा कि हम प्रधानमंत्री का सम्मान करते हैं अच्छी बात है लेकिन वर्षों का आंदोलन घंटों में कैसे निपट सकता है। किसानों की घर वापसी पर टिकैत ने कहा कि किसान संयुक्त मोर्चा है वह जो चाहेगा वह सब करेंगे। कल भी संयुक्त मोर्चा की मीटिंग थी आज भी है जो वह निर्णय लेंगे वही सब करेंगे।

From around the web