कोरोना से जिंदगी की जंग हार गया जिंदादिल इंसान राशिद खान, रॉयल बुलेटिन के फोटोग्राफर के असमय निधन से शोक की लहर दौड़ी

 
कोरोना से जिंदगी की जंग हार गया जिंदादिल इंसान राशिद खान, रॉयल बुलेटिन के फोटोग्राफर के असमय निधन से शोक की लहर दौड़ी

मुजफ्फरनगर। फोटो पत्रकार के रूप में लगभग 40 वर्षो तक अपनी सेवा देने वाले जिंदादिल इंसान राशिद खान आज सुबह कोरोना से जिंदगी की जंग हार गए हैं। उनके असमय निधन से हर कोई दुखी है। दैनिक रॉयल बुलेटिन के फोटो जर्नलिस्ट राशिद खान (कुंवर स्टूडियो वाले) कोरोना से जंग हार गए। लाख कोशिश के बाद भी उन्हें बचाया नही जा सका। विगत 12 अप्रैल को बुखार होने पर उन्हें एक चिकित्सक को दिखाया गया था, उपचार के दौरान उनकी हालत ख़राब होने पर जिला अस्पताल में उनका कोरोना टैस्ट कराया गया था, जिसमें उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आई थी और उन्हें बेगराजपुर मैडिकल में भर्ती कराया गया था, जहां वह स्वास्थ्य में सुधार के बाद 22 अप्रैल को छुट्टी लेकर अपने घर पर रहकर ही स्वास्थ्य लाभ ले रहे थे, लेकिन विगत दिवस अचानक हालत बिगड़ गई और आक्सीजन लगानी पडी थी। आज प्रातः लगभग 10 बजे फिर से हालत बिगड़ने पर उन्हें एंबुलेंस से बेगराजपुर मैडिकल ले जाया गया, लेकिन 1 घंटे तक भी मैडिकल का गेट नहीं खोला गया और चिकित्सकों ने बेड खाली ना होने की बात कहकर गेट खोलने से इंकार कर दिया। यह हालत तब रही, जब सीडीओ और सीएमओ ने भी मैडिकल में फोन कर राशिद खान को भर्ती करने को कहा, इसी जद्दोजहद के बीच लगभग 11 बजे राशिद खान ने एंबुलेंस में ही दम तोड़ दिया। दैनिक रायल बुलेटिन परिवार ने अपना मेहनती सदस्य खो दिया, जिससे हम सभी दुखी हैं। हम परमपिता परमात्मा से प्रार्थना करते हैं कि प्रभु दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान दें और शोक संतप्त परिवार को इस असहनीय दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करें।

वहीं आज कृष्णापुरी निवासी मैनपाल बालियान का कोरोना से निधन हो गया, कुछ दिन पूर्व पुत्र हिमांशु बालियान का भी कोरोना से निधन हो गया था। इसके साथ ही इंदिरा कॉलोनी निवासी दरोगा नरेंद्र कुमार सिंह का भी कोरोना के चलते निधन हो गया। आरएसएस कार्यकर्ता अशोक पाहुजा भी कोरोना से जंग हार गए, वहीं भाजपा नेता सुनील तायल के बड़े भाई अशोक तायल का भी कोरोना से निधन हो गया।

From around the web