Sunday, June 23, 2024

नारद राय ने सपा छोड़ी, शाह से की मुलाकात,जय श्रीराम बोलकर कहा-‘अखिलेश मेरा नाम भूल गए, अंसारी परिवार का दरबारी नहीं बन सकता 

 

Royal Bulletin के साथ जुड़ने के लिए अभी Like, Follow और Subscribe करें |

 

बलिया। समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व राज्य मंत्री नारद राय ने सपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देने की घोषणा की है। जिले के खोरी पाकड़ गांव में रविवार रात्रि राज-नारायण की जमात की बैठक के दौरान अपने संबोधन में सपा नेता नारद राय ने समाजवादी पार्टी छोड़ने की घोषणा की तथा अपने समर्थकों से 2024 के लोकसभा चुनाव में साइकिल में ताला लगाने का अनुरोध किया है।

 

इसके बाद शाम करीब पांच बजे नारद राय ने वाराणसी स्थित होटल ताज में गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की। इस दौरान उनके साथ सुभासपा प्रमुख ओम प्रकाश राजभर भी मौजूद रहे।

 

इस मुलाकात का जिक्र नारद राय ने अपने एक्स हैंडिल पर किया है। उन्होंने लिखा है कि “दुनिया में भारत का डंका बजाने वाले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भारत के गृह मंत्री, राजनीति के चाणक्य अमित शाह के संकल्प की समाज के अंतिम पंक्ति में बसे गरीब को मजबूत करने वाली सोच और राष्ट्रवादी विचारधारा को मजबूत करूंगा। जय जय श्री राम।”

 

इससे पहले बलिया में जब उनसे पूछा गया कि क्या आपने सपा से इस्तीफा दे दिया है तो जवाब में उन्होंने कहा कि जय श्रीराम बोलकर सपा में बने रहना संभव नहीं है। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव सहित संगठन पर कई तरह के आरोप लगाए।

 

कहा कि मेरी राजनीति खत्म की जा रही थी। एक दिन पहले अखिलेश यादव की सभा में भी मुझे अपमानित किया गया। सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने 45 वर्ष पुराने नेता का मंच से नाम न लेकर अपमान किया। इसे भुलाया नहीं जा सकता।

 

शहर से सटे खोरीपाकर गांव स्थित देव श्री परिसर में आयोजित कार्यकर्ता बैठक में नारद ने कहा कि अपमान होने के बाद भी सपा प्रत्याशी ने अफसोस जाहिर नहीं किया। मैंने बलिया में जनेश्वर मिश्र सेतु, जननायक चंद्रशेखर विश्वविद्यालय, लोहिया मार्किट, स्पोर्टस कालेज लाने का काम किया। बलिया की जनता से मैं प्रेम करता हूं। सपा का झंडा लगाकर भाजपा की मैं मदद नहीं कर सकता, भाजपा का झंडा लगाकर भाजपा की मदद करूंगा। जिस दिन भाजपा में शामिल होऊंगा, संख्या बल सभी को दिख जाएगा।

 

उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाया कि सपा में उनकी लगातार उपेक्षा की जा रही है। बलिया में पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की चुनावी सभा का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा “ इससे ज्यादा मैं अपमान क्या सहू की मंच से राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मेरा नाम ही नही लिया, मैं अपने समर्थकों के खिलाफ नही जा सकता।” उन्होंने जय श्री राम का नारा लगाते हुए यह घोषणा की, कि वह समाजवादी पार्टी को छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में जाएंगे।

 

उल्लेखनीय है कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने रविवार को बलिया लोकसभा क्षेत्र के सपा उम्मीदवार सनातन पांडेय के समर्थन में फेफना क्षेत्र में एक चुनावी सभा को सम्बोधित किया था, लेकिन उन्होंने मंच पर नारद राय की मौजूदगी के बाद भी उनका नाम का उल्लेख अपने उद्बोधन में नही किया था। दो बार विधायक रहे श्री राय पहले से बलिया लोकसभा से टिकट न मिलने से भी नाराज़ चल रहे थे।

Related Articles

STAY CONNECTED

74,188FansLike
5,329FollowersFollow
60,365SubscribersSubscribe

ताज़ा समाचार

सर्वाधिक लोकप्रिय