देश में अब तक बनी हैं 16 महिला मुख्यमंत्री

 
1
नयी दिल्ली।  देश में अब तक 13 राज्यों असम, बिहार, दिल्ली, गोवा, गुजरात, जम्मू कश्मीर, मध्य प्रदेश, ओडिशा, पंजाब, राजस्थान, तमिलनाडु, उत्तर प्रदेश, और पश्चिम बंगाल में 16 महिला मुख्यमंत्री बनी हैं।

सुश्री ममता बनर्जी कल पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगी। इन महिला मुख्यमंत्रियों में सुचेता कृपलानी, नंदिनी सत्पति , शशिकला काकोदर, अनवारा तैमूर, वीएन जानकी रामचंद्रन, जे जयललिता, मायावती, राजिंदर कौर भट्टल, राबड़ी देवी, सुषमा स्वराज, शीला दीक्षित, उमा भारती, वसुंधरा राजे, ममता बनर्जी, आनंदीबेन पटेल और महबूबा मुफ़्ती शामिल हैं।

इनमें से चार मुख्यमंत्री स अक्षर से हैं जिनमें सुचेता कृपलानी, शशिकला काकोदर, सुषमा स्वराज और शीला दीक्षित शामिल हैं। इनमें से 11 के नाम में अंग्रेजी का टी अक्षर शामिल है। इनमें से चार मुख्यमंत्री जनवरी महीने में पैदा हुई जिनमें शशिकला काकोदर, मायावती, राबड़ी देवी और ममता बनर्जी शामिल हैं। इनमें से दो मुख्यमंत्री 24 तारीख को पैदा हुई जिनमें अनवारा तैमूर और जयललिता शामिल हैं। वर्ष 1959 में तीन मुख्यमंत्री राबड़ी देवी, उमा भारती और महबूबा मुफ़्ती पैदा हुई।

पहली मुख्यमंत्री सुचेता कृपलानी 1908 में पैदा हुई जबकि महबूबा मुफ़्ती 1959 में पैदा हुई। सबसे कम उम्र की मुख्यमंत्री राबड़ी देवी 39 साल की उम्र में बनी जबकि सबसे ज्यादा उम्र की मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल 73 साल में बनी।

तीन राज्यों से दो मुख्यमंत्री बनी। तमिलनाडु से वीएन जानकी रामचंद्रन और जयललिता तथा उत्तर प्रदेश से मायावती और उमा भारती तथा दिल्ली से शीला दीक्षित और सुषमा स्वराज का नाम शुमार है।

सबसे ज्यादा पांच बार मुख्यमंत्री बनने का श्रेय जयललिता को गया। संयोग से भारत की पहली मुख्यमंत्री और इस समय वहां सत्ता संभालने जा रही महिलाओं में सुजेता कृपलानी और ममता बनर्जी हैं।

From around the web