मीडिया घरानों पर आयकर की छापेमारी को लेकर कांग्रेस ने केंद्र को घेरा

 
1
नई दिल्ली। कांग्रेस ने गुरुवार को मीडिया घरानों पर आईटी छापों को लेकर सरकार को आड़े हाथ लिया और कहा कि देश की रक्षा करने के बजाय, केंद्रीय एजेंसियों ने अब व्हिसलब्लोअर को डराने के लिए शिकारियों के रूप में काम करना शुरू कर दिया है। एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक सिंघवी ने कहा, दैनिक भास्कर पर आईटी छापे ने भाजपा सरकार की खतरनाक और कठोर प्रकृति को उजागर किया है।

उन्होंने कहा, आज जो कुछ भी हुआ, उसे हमें कैसे परिभाषित करना चाहिए? कई शब्द हैं - अधिनायकवाद, अत्याचार, तानाशाही, फासीवाद, निरंकुशता, सीजरवाद और इसी तरह और आगे भी।

उन्होंने कहा कि समाचार पत्र पर छापा मारा गया है, क्योंकि इसकी रिपोर्ट में गंगा में बहते कोविड पीड़ितों के शव का मुद्दा उठाया गया था। उन्होंने कहा कि अखबार ने उत्तर प्रदेश और बिहार के शहरों में नदीं किनारे कोविड पीड़ितों के शवों की भयावह ²ष्टि को उजागर किया था।

इन शवों को संभवत: दाह संस्कार के साधनों की कमी के कारण नदी में बहा दिया गया था। आयकर विभाग ने कथित कर चोरी को लेकर देश भर में कई स्थानों पर मीडिया इकाई दैनिक भास्कर के कार्यालयों की तलाशी ली है। जानकारी के अनुसार दैनिक भास्कर समूह के भोपाल, इंदौर, जयपुर और अहमदाबाद परिसरों में छापेमारी की गई है। आयकर विभाग भारत समाचार न्यूज चैनल के कार्यालयों और इसके प्रमोटरों और प्रधान संपादक के आवासों पर भी छापेमारी कर रहा है।

From around the web