कोरोना की तीसरी लहर के लिए सरकार तैयार

 
1
नयी दिल्ली। सरकार ने मंगलवार को राज्यसभा में कहा कि कोरोना महामारी की तीसरी लहर को रोकने के लिए सभी पक्षों के साथ मिलकर हरसंभव तैयारी की गयी है और इसके लिए पहले ही 23 हजार करोड़ रुपए के पैकेज की घोषणा की गयी है।

सदन में कोरोना महामारी पर लगभग चार घंटे तक चली चर्चा का जवाब देते हुए स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि केंद्र सरकार ने पैकेज की, जो घोषणा की है, उससे राज्यों को मदद की जाएगी। उन्होेंने राज्यों से अपनी योजनाओं को जल्द से जल्द केंद्र को भेजने का अनुरोध किया ताकि उन्हें तुरंत राशि उपलब्ध करायी जा सके।

मांडविया ने कहा कि केंद्र सरकार के पैकेज से जिला अस्पतालों में बच्चों के लिए वार्ड , आईसीयू की सुविधा, दवा की उपलब्धता और एंबूलेंस सुविधा उपलब्ध करायी जाएगी। यह राशि नौ माह में व्यय की जाएगी। उन्होंने कहा कि कोविड -19 की दूसरी लहर के दौरान देश में व्यापक पैमाने पर चिकित्सा आक्सीजन की मांग बढ़ी थी और उसी को ध्यान में रखकर केंद्र सरकार ने पूरे देश में 1573 आक्सीजन संयंत्र लगाने का निर्णय लिया है। इनमें से 316 संयंत्र चालू हो गये हैं। शेष संयंत्रों की स्थापना अगस्त तक कर दी जाएगी। उन्होेंने जन प्रतिनिधियों से भी इन संयंत्रों पर नजर रखनेे को कहा।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि देश में कोरोना के टीके की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के प्रयास किये जा रहे हैं और जैसे जैसे उत्पादन बढ़ेगा वैसे वैसे टीके लगाने की दर बढ़ेगी। अभी लगभग 50 लाख प्रति दिन की गति से टीके लगाये जा रहे हैं। बाद में इसे 60 लाख और 75 लाख किया जाएगा। उन्होेंने कहा कि कोरोना संक्रमण संबंधित दवाओं का उत्पादन बढ़ाया गया है और ब्लैक फंगस की दवा का उत्पादन बढ़ाने के अलावा आयात भी किया गया है।

From around the web