देश के 334 शहरों आज से हो रहा है जेईई मेंस का एग्जाम, 7 लाख से ज्यादा अभ्यार्थी

 
1
नई दिल्ली। देशभर में मंगलवार से जेईई मेंस की परीक्षाओं का तीसरा सत्र शुरू हो गया है। यह परीक्षाएं 20 जुलाई से प्रारंभ होकर 27 जुलाई तक चलेंगी। इस दौरान 7 लाख 9529 छात्र यह परीक्षा देंगे। शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक कोरोना को देखते हुए इस बार 334 शहरों में यह परीक्षाएं करवाई जा रही हैं जबकि पहले यह परीक्षाएं 232 शहरों में आयोजित की जानी थी। यह परीक्षा आठ शिफ्टों में सुबह 9 से 12 व दोपहर 3 से 6 बजे तक दो पालियों में आयोजित की जा रही है। इन परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों को उनके घर के समीप परीक्षा केंद्र आवंटित करने की योजना अपनाई गई है, जिसके कारण इस बार पहले से अधिक 334 शहरों में यह परीक्षाएं करवाई जा रही हैं। कोरोना महामारी को देखते हुए इस बार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ने विशेष प्रबंध किए हैं। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी की वरिष्ठ निदेशक डॉ साधना पाराशर ने बताया कि इस बार प्रत्येक शिफ्ट के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या भी बढ़ाई गई है। प्रत्येक शिफ्ट में परीक्षा केंद्रों की संख्या 660 से बढ़ाकर 828 कर दी गई है।

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के मुताबिक क्षेत्रीय भाषाओं में भी जेईई की परीक्षाएं करवाई जाएंगी। देश का कोई भी बच्चा अपनी मातृभाषा में परीक्षा देकर इंजीनियरिंग कर सकता है। इस बार 13 विभिन्न भाषाओं में जेईई परीक्षाएं आयोजित की जा रही हैं।

तीसरे चरण की यह जेईई मेंस की परीक्षाएं इस वर्ष अप्रैल में आयोजित की जानी थी, लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए तब यह परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री की सलाह अनुसार नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा जेईई (मेंस) 2021 चौथे का सत्र की परीक्षा 26, 27 और 31 अगस्त, और 1 एवं 2 सितंबर को आयोजित की जाएगी। कुल 7.32 लाख उम्मीदवारों ने पहले ही जेईई (मेंस) 2021 के सत्र 4 के लिए पंजीकरण कराया है।

चौथे चरण की परीक्षा के लिए 9 से 12 जुलाई तक आवेदन का समय था लेकिन इसे बढ़ाकर 20 जुलाई कर दिया गया है। जिन छात्रों ने पहले से ही इन परीक्षाओं के लिए आवेदन किया हुआ है उन्हें दोबारा आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।

From around the web