किसान आंदोलन के दौरान जान गंवाने वाले किसानों के परिजनों को तीन लाख रुपये की सहायता देगी तेलंगाना सरकार

 
न

हैदराबाद- प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की घोषणा के एक दिन बाद, तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) पार्टी के प्रमुख एवं मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने शनिवार शाम को किसान आंदोलन के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले किसानों के परिवारों को तीन-तीन लाख रुपये की सहायता राशि देने की घोषणा की और केंद्र सरकार से किसानों के शोक संतप्त परिवारों को 25-25 लाख रुपये प्रदान करने की घोषणा करने की मांग की।
श्री राव ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार ने इस मानवीय कार्य (सहायता के लिए) के लिए 22 करोड़ रुपये आवंटित किये हैं और किसान आंदोलन के नेताओं से आंदोलन के दौरान मारे गये किसानों का विवरण भेजने का अनुरोध किया। कृषि कानून विरोधी आंदोलन के दौरान 700 से अधिक किसानों की जान गयी थी।
तीन विवादास्पद कृषि कानूनों पर जीत हासिल करने के लिए किसानों को बधाई देते हुए, मुख्यमंत्री ने केंद्र सरकार से किसान आंदोलन के दौरान किसानों का समर्थन करने वालों और किसानों के खिलाफ दर्ज सभी मामले वापस लेने की भी मांग की।
उन्होंने देश के किसानों के फायदे के लिए आने वाले संसद सत्र में न्यूनतम समर्थन मूल्य पर एक विधेयक और अधिनियम लाने तथा भारतीय खाद्य निगम द्वारा अग्रिम रूप से वार्षिक खरीद नीति लागू करने की भी मांग की।
श्री राव ने बिजली संशोधन विधेयक को वापस लेने की मांग के अलावा यह भी मांग की कि केंद्र सरकार को तेलंगाना सरकार के अनुरोध के अनुसार खरीफ के लिए धान की खरीद में वृद्धि और रबी में उबले हुए चावल की खरीद के बारे में स्पष्ट करना चाहिए।

From around the web