ड्रीम स्पोर्ट्स ने आठ अरब डॉलर के मूल्यांकन पर 6,252 करोड़ रुपये जुटाए

 
ै

मुंबई। ड्रीम कैपिटल, फैनकोड, ड्रीम11, ड्रीमसेटगो, ड्रीम गेम स्टूडियो और ड्रीमपे जैसे ब्रांड्स के साथ भारत की प्रमुख स्पोर्ट टेक कंपनी ड्रीम स्पोर्टस ने आज 8 अरब डॉलर के मूल्याकंन पर फाल्कन एज, डीएसटी ग्लोबल, डी1 कैपिटल, रेडबर्ड कैपिटल और टाइगर ग्लोबल के नेतृत्व में 84 करोड़ डॉलर के निवेश चरण के पूरा होने की घोषणा की है। इस चरण में मौजूदा निवेशकों जैसे टीपीजी और फुटपाथ वेंचर्स ने भी भाग लिया, जिससे यह स्पोर्टस टेक क्षेत्र में विश्व स्तर पर सबसे बड़ा निवेश बन गया है।
मौजूदा 14 करोड़ भारतीय खेल प्रशंसकों के साथ ड्रीम स्पोर्टस दुनिया के सबसे बड़े स्पोर्टस ईकोसिस्टम के निर्माण के मिशन पर है, जिसमें स्पोर्टस कंटेंट, कॉमर्स, अनुभव, फैन इंगेजमेंट (स्पोर्टस गेमिंग और ईस्पोर्टस सहित), वेब 3.0 समाधान, फैनटेसी स्पोर्टस और फिटनेस टेक शामिल है। इस साल की शुरुआत में, ड्रीम स्पोर्टस ने अपनी सीवीसी और एम एंड ए इकाई ड्रीम कैपिटल के माध्यम से 25 करोड़ डॉलर के कोष की घोषणा कर इस क्षेत्र में अपनी प्रतिबद्धता को और मजबूत किया था। ड्रीम कैपिटल ने 10 कंपनियों का एक शुरुआती पोर्टफोलियो बनाया है, जो मुख्यरूप से भारत में थीम आधारित शुरुआती स्तर के निवेश पर ध्यान केंद्रित कर रही हैं, जिनमें फिटर , सोस्ट्रोक , खेलोमोरे और एलेवर शामिल हैं। ड्रीम कैपिटल अब भारत और वैश्विक स्तर पर अपने खेल, प्रशंसक जुड़ाव और फिटनेस पोर्टफोलियो का विस्तार कर रहा है।
ताजा निवेश पर हर्ष जैन, सीईओ और सह-संस्थापक, ड्रीम स्पोर्टस ने कहा “हमारा लक्ष्य और मिशन स्पोर्टस ईकोसिस्टम में प्रशंसकों से लेकर खिलाड़ियों, टीम और लीग तक सभी हितधारकों के लिए निवेश, नवाचार और धन सृजन के लिए एक उद्यमी—नेतृत्व वाले चक्र का निर्माण करना है। हमारे निवेशकों के पास वैश्विक स्तर पर स्पोर्टस ईकोसिस्टम विकसित करने का गहरा अनुभव है, और एक अरब भारतीय खेल प्रशंसकों के लिए 'खेल को बेहतर बनाने' में उनका मार्गदर्शन पाना हमारे लिए भाग्यशाली है।”
डीएसटी ग्लोबल के मैनेजिंग पार्टनर राहुल मेहता ने कहा, “हम भारत में प्रमुख एंड-टू-एंड स्पोर्टस टेक कंपनी बनने के दृष्टिकोण के साथ ड्रीम स्पोर्टस परिवार का हिस्सा बनने पर काफी उत्साहित हैं। हम उनके ग्राहक केंद्रित दृष्टिकोण, उत्पाद रणनीति और प्रशंसकों एवं उनके पसंदीदा खेलों के बीच सबंध को मजबूत बनाने की क्षमता से अत्यधिक प्रभावित हैं।”

From around the web