उप्र में 14 जिलो के 633 गांव बाढ़ से प्रभावित है, सभी तटबन्ध सुरक्षित: प्रसाद

 
1

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 14 जिलो के 633 गांव अभी भी बाढ़ से प्रभावित है और सभी तटबन्ध सुरक्षित कहीं भी किसी प्रकार की चिन्ताजनक परिस्थिति नहीं है।
राज्य के राहत आयुक्त रणवीर प्रसाद ने मंगलवार शाम यहां यह जानकारी दी। उन्होंने वर्षा की स्थिति से अवगत कराते हुए बताया कि प्रदेश में फिलहाल सभी तटबन्ध सुरक्षित हैं, कहीं भी किसी प्रकार की चिन्ताजनक परिस्थिति नहीं है। उन्होंने बताया कि 24 घंटे में प्रदेश में 1.3 मिमी औसत वर्षा हुई है, जो सामान्य वर्षा से 7.6 मिमी के सापेक्ष 17 प्रतिशत है। इस प्रकार प्रदेश में इस मौसम में अब तक 622.6 मिमी औसत वर्षा हुए, जो सामान्य वर्षा 716.7 मिमी के सापेक्ष 87 प्रतिशत है।
उन्होंने बताया कि गंगा नदी बदायूं, शारदा-खीरी, घाघरा-बलिया, राप्ती-सिद्धार्थनगर, गोरखपुर, तथा क्वानों नदी गोंडा में खतरे से ऊपर बह रही है। प्रदेश में वर्तमान में 14 जिलों के 633 गांव बाढ़ से प्रभावित है। प्रदेश के बाढ़ प्रभावित जिलों में खोज एवं बचाव आदि के काम में एनडीआरएफ, एसडीआरएफ तथा पीएसी की कुल 64 टीमें तैनाती की गयी है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में 6346 नावें लगायी गयी है तथा 1193 मेडिकल टीमें लगी है। बचाव दलों ने कुल 49901 लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि अब तक 256360 ड्राई राशन किट और 556128 फूड पैकेट वितरित किए गए हैं। प्रदेश में 232933.58 मीटर त्रिपाल, पीने के पानी का पाउच 207628 लीटर, ओआरएस के 219486 पैकेट तथा क्लोरीन के 2522441 टेबलेट वितरित किये गये है। प्रदेश में 1134 बाढ़ शरणालय तथा 1327 बाढ़ चौकी स्थापित की गयी है। प्रदेश में अब तक कुल 1705 पशु शिविर स्थापित किये गये हैं। अभी तक 813799 पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका।

From around the web