8वीं की छात्रा ने की आत्महत्या, इंदौर के एसआई पर धमकाने पर आरोप

 
1

उज्जैन। बुधवार रात्रि करीब साढ़े 11 बजे कक्षा 8वीं में अध्ययन एक नाबालिग ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इसके पूर्व उसने अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर गुड बाय तथा जलती चिता के चित्र डाले। गुरुवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा गया। परिजनों ने इंदौर के भंवरकुंआ थाने के एक एसआई पर आरोप लगाया है कि उसने नाबालिग को धमकी दी थी,इसलिए उसने आत्महत्या कर ली।

जीवाजीगंज थाना पुलिस के अनुसार, गुमानदेव हनुमान मंदिर, पीपलीनाका क्षेत्र निवासी 13 वर्षीय मेघा पुत्री भैरूलाल कक्षा 8वीं में पढ़ती थी। उसके नाना ने बयान दिया है कि बुधवार रात वह 11 बजे तक परिवारवालों के साथ थी। इसके बाद कमरे में चली गई। नाना ने उसे करीब साढ़े 11 बजे फांसी पर लटके देखा तो परिजनों को बताया तथा पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने रात्रि में ही शव पोस्टमार्टम रूम में रखवा दिया। गुरुवार सुबह शव का पोस्टमार्टम हुआ और शव परिजनों को सौंपा गया।

पुलिस के अनुसार परिजनों ने अपने बयान में बताया कि मेघा की इंदौर निवासी तनु प्रजापत से सोश्यल मीडिया के माध्यम से पहचान हुई थी। दो सप्ताह पूर्व तनु ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उसके बाद से मेघा के मोबाइल पर तनु की रिश्तेदार चित्रा एवं प्रीति प्रजापत लगातार फोन कर रही थीं। इसके बाद इंदौर के भंवरकुंआ थाने के एसआई संजीव चौहान का फोन आया था। परिजनों ने आरोप लगाया कि मेघा ने बताया था कि उसे एसआई ने थाने पर बुलाने की धमकी दी थी। इसी के बाद उसने आत्महत्या की। पुलिस के अनुसार मर्ग कायम कर जांच में लिया गया है।

From around the web