अपना दल (एस) बनी राज्य स्तरीय पार्टी, चुनाव आयोग ने दी मान्यता

 
न
लखनऊ। अपना दल (एस) के लिए गुरुवार का दिन ऐतिहासिक है। गुरुवार को पार्टी को उत्तर प्रदेश की राज्य स्तरीय राजनैतिक पार्टी के तौर पर चुनाव आयोग ने मान्यता दे दी। पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं केंद्रीय वाणिज्य व उद्योग राज्य मंत्री अनुप्रिया पटेल ने इस उपलब्धि को उन करोड़ों कार्यकर्ताओं एवं प्रशंसकों व शुभचिंतकों की मेहनत का प्रतिफल बताया है, जिन्होंने पार्टी के विकास के लिए त्याग, संघर्ष व बलिदान दिया।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस ऐतिहासिक उपलब्धि के लिए भगवान बुद्ध के आशीर्वाद, आरक्षण के जनक छत्रपति शाहूजी महाराज व महात्मा ज्योतिबा फुले की प्रेरणा, संविधान निर्माता बाबा साहब डॉ भीम राव आंबेडकर व अखंड भारत के निर्माता सरदार वल्लभभाई पटेल जी के सिद्धांतों पर चलते हुए समाज के अंतिम पंक्ति पर खड़े व्यक्ति के समग्र विकास के लिए किए गए संघर्षों का सुखद परिणाम बताया है।

पार्टी के कार्यकारी राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री आशीष पटेल ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि पार्टी के संस्थापक यशरूकायी डॉ सोनेलाल पटेल जी के संघर्ष एवं हमारी नेता के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं की मेहनत की वजह से यह ऐतिहासिक उपलब्धि हासिल हुई है। इस उपलब्धि के लिए मैं अपने करोड़ों कार्यकर्ताओं का आभार व्यक्त करता हूं।

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजकुमार पाल ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि बहुजन संतों के आशीर्वाद व करोड़ों कार्यकर्ताओं के पसीना का प्रतिफल है।

पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता राजेश पटेल ने कहा कि अपना दल (एस) को चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश की राज्य स्तरीय पार्टी के तौर पर मान्यता दे दिया है। यह अत्यंत हर्ष का विषय है। पार्टी के संस्थापक यशरूकायी डॉ सोनेलाल पटेल जी ने 25 साल पहले जिस पौधे को रोपा था, आज उनके त्याग व बलिदान एवं हमारी नेता अनुप्रिया पटेल जी के कुशल नेतृत्व में अपना दल (एस) एक बड़ा आकार ले लिया है।

अपना दल (एस) को राज्य स्तरीय मान्यता मिलने पर पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजेश श्रीवास्तव ने इस बड़ी उपलब्धि के लिए पार्टी के देवतुल्य कार्यकर्ताओं का आभार जताया एवं उनके त्याग व परिश्रम को सलाम किया।

From around the web