मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कालभैरव और बाबा विश्वनाथ के दरबार में लगाई हाजिरी, सावन में श्रद्धालुओं का विशेष ख्याल रखने का दिया निर्देश
 

 
योगी

वाराणसी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार देर शाम काशी के कोतवाल बाबा कालभैरव और काशीपुराधिपति के स्वर्णिम दरबार में हाजिरी लगाई। दो दिवसीय वाराणसी दौरे पर आये मुख्यमंत्री ने कमिश्नरी सभागार में विकास कार्यो और कानून व्यवस्था की समीक्षा करने के बाद बाबा कालभैरव के दरबार में दर्शन पूजन किया और आरती उतारी।

यहां से मुख्यमंत्री कड़ी सुरक्षा के बीच बाबा विश्वनाथ के दरबार में पहुंचे। दरबार में मुख्यमंत्री मंदिर के मुख्य प्रवेश द्वार से होते हुए गर्भगृह में पहुंचे और विधि विधान से वैदिक मंत्रोच्चार के बीच षोडशोपचार विधि से पूजन किया और पावन ज्योर्तिलिंग का दुग्धाभिषेक कर आरती भी उतारी। दर्शन पूजन के बाद मुख्यमंत्री ने प्रदेशवासियों के लिए बाबा से मंगल कामना की। मंदिर परिसर में मुख्यमंत्री को देख श्रद्धालुओं ने हर—हर महादेव का जयकार लगाया तो उन्होंने भी लोगों के अभिवादन को हाथ जोड़कर स्वीकार किया।

दर्शन पूजन के पश्चात मुख्यमंत्री ने श्री काशी विश्वनाथ धाम में श्रद्धालुओं के लिए की गई व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। उन्होंने टेंट, पेयजल, मैटिंग सहित घाट से आने वाले व अन्य प्रवेश द्वारों से आने वाले श्रद्धालुओं की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने कहा कि मंदिर प्रशासन द्वारा काफी अच्छी व्यवस्था की गई है। इससे आम जनमानस में संतोष है और भी बेहतर सुविधा कैसे दे सकते हैं इस पर विचार करने की आवश्यकता है।

मुख्यमंत्री ने गंगा घाट तक जाकर गंगा के बढ़ाव का भी जायजा लिया। घाट किनारे बने कैफे बिल्डिंग का भी उन्होंने निरीक्षण किया, उन्होंने कहा कि इतने बड़े परिसर में साफ-सफाई सुरक्षा व्यवस्थाओं को ध्यान रखा जाए। मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने बताया कि 1 अगस्त से नई सफाई कंपनी ने कार्यभार संभाल लिया है । वहीं, अगले सप्ताह में सिक्योरिटी की टीम भी मंदिर परिसर में अपना कार्य करना शुरू कर देगी।

मंदिर के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील कुमार वर्मा ने मुख्यमंत्री को बताया कि सावन में सामान्य दिन में जहां 2 से ढाई लाख लोग दर्शन कर रहे हैं। वहीं, सावन के सोमवार को 6 से 7 लाख लोग दर्शन कर रहे हैं। इनके लिए टीम लगाकर व्यवस्थाएं की जा रही हैं। पेयजल के लिए हर 10 मीटर पर काउंटर लगाया जाता है ताकि किसी भी श्रद्धालुओं को असुविधा का सामना न करना पड़े।

निरीक्षण के दौरान शहर दक्षिणी के विधायक डॉ नीलकंठ तिवारी, मंत्री रविन्द्र जायसवाल, विधायक सौरभ श्रीवास्तव, कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, मंदिर के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी निखिलेश कुमार मिश्रा, विशेष कार्य अधिकारी उमेश कुमार सिंह आदि भी मौजूद रहे।

मुख्यमंत्री ने फुलवरिया फोरलेन निर्माण कार्य का किया निरीक्षण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरूवार देर शाम काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन पूजन के पूर्व फुलवरिया फोरलेन निर्माण कार्य का निरीक्षण किया। लहरतारा के पास बन रहे फ्लाईओवर के निरीक्षण के दौरान मौके पर मौजूद लोक निर्माण विभाग एवं सेतु निगम के अधिकारियों को उन्होंने कार्य में तेजी लाने एवं युद्ध स्तर पर अभियान चलाकर कार्य को समय से पूरा कराए जाने का निर्देश दिया। बताते चले, फुलवरिया फोरलेन की तीन लेन जीटी रोड से जुड़ेगी। लहरतारा चौराहे से पहले और दूसरी लहरतारा चौराहे से पार उतरेगी। बौलिया तिराहे से भी इसी फोरलेन की दो लेन जुड़ेगी।

दूसरी ओर लहरतारा से कैंटोंमेंट वाले किनारे तक का काम भी तेजी से चल रहा है। जल्द ही इस फोरलेन का काम पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद लोग न केवल फर्राटा भर सकेंगे, बल्कि लहरतारा चौराहे पर भी कुछ हद तक जाम से निजात मिलेगी। फ्लाईओवर बनने के बाद लहरतारा से कचहरी जाने वाले लोगों को अब कम समय व्यतीत करना पड़ेगा। इसी फोरलेन के माध्यम से बाबतपुर एयरपोर्ट तक का सफर भी आसान हो जाएगा।

निरीक्षण के दौरान कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर, मंत्री रविंद्र जायसवाल, मंत्री दयाशंकर मिश्र 'दयालु', विधायक सौरभ श्रीवास्तव, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक नीलकंठ तिवारी, प्रमुख सचिव सूचना संजय प्रसाद, कमिश्नर दीपक अग्रवाल और अन्य अफसर भी मौजूद रहे।

From around the web