मां-भाई ने की ट्रॉली बैग में मिली युवती के शव की शिनाख्त, बदरपुर की आयुषी यादव की थी लाश

 
मां-भाई ने की ट्रॉली बैग में मिली युवती के शव की शिनाख्त, बदरपुर की आयुषी यादव की थी लाश
मथुरा। थाना राया क्षेत्र अंतर्गत यमुना एक्सप्रेस-वे के सर्विस रोड पर ट्राली बैग में हत्याकर फेंकी गई युवती की पहचान हो गई है। स्वजन ने रविवार शाम उसकी पहचान की है। युवती दिल्ली के बदरपुर थाना क्षेत्र के मोलड़बन्द इलाके की रहने वाली थी और 17 नवंबर को सुबह घर से निकली थी। पुलिस स्वजन से पूछताछ कर रही है।

गौरतलब हो कि 18 नवंबर की पूर्वान्ह 11 बजे यमुना एक्सप्रेसवे की सर्विस रोड पर कृषि अनुसंधान केंद्र के पास झाड़ियों में लाल रंग के ट्रॉली बैग में खून से लथपथ युवती का शव मिला था। उसकी गोली मारकर हत्या करने के बाद ट्रॉली बैग में पैक करके शव को फेंका गया था।

युवती की शिनाख्त के लिए सर्विलांस की टीम ने करीब 20 हजार मोबाइल फोन ट्रेस किए। इन मोबाइलों की लोकेशन भी सर्विलांस की टीम ने खंगाली। जेवर, जाबरा टोल, खंदौली टोल के अलावा हाथरस, अलीगढ़ और मथुरा आने वाले मार्गों पर लगे 210 सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले। जिसके बाद पुलिस को मृतका की शिनाख्त कराने में सफलता मिल सकी। आयुषी की मां और भाई ने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर शिनाख्त की।

एसपी सिटी एमपी सिंह ने बताया कि मां और भाई ने पोस्टमार्टम गृह पर पहुंचकर आयुषी होने की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि ये परिवार मूल रूप से गोरखपुर का रहने वाला बताया जा रहा है। आयुषी परिवार के साथ दिल्ली के थाना बदरपुर क्षेत्र में रहती थी। पुलिस की करीब आठ टीमें युवती की पहचान में जुटी हुई थीं। गुरुग्राम, आगरा, अलीगढ़, हाथरस, नोएडा और दिल्ली तक पुलिस टीम पहुंची।

ट्रॉली बैग से मिली लाश और लाल साड़ी

युवती की शिनाख्त के लिए पुलिस ने दिल्ली एनसीआर, अलीगढ़ और हाथरस में जगह-जगह मृतका के पोस्टर भी लगवाए थे। इसके अलावा अलीगढ़, हाथरस और कानपुर से भी लापता बेटियों के लिए परिजन थाना राया पहुंचे।

From around the web