सीजन में पहली बार 9.4 डिग्री पहुंचा तापमान, रात का पारा दहाई के अंक से नीचे

 
कानपुर, 20 नवम्बर (हि.स.)। उत्तर प्रदेश में नवम्बर के अंतिम दिनों में ठंड तेजी से बढ़ गई है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि नवम्बर माह में शुक्रवार का दिन सबसे ठंडा रहा है। रविवार दिन का अधिकतम तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं, रात का पारा दहाई के अंक से नीचे दर्ज हुआ है।        कानपुर में इस सीजन में पहली बार न्यूनतम तापमान दहाई के अंक से नीचे आ गया है। शुक्रवार देर रात यह 9.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया और रविवार को 9.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। यह सामान्य से 2.8 डिग्री सेल्सियस कम है। अधिकतम तापमान सामान्य से 2.6 डिग्री कम 25.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।        मौसम विभाग के प्रमुख डॉ एस.एन. पांडेय ने बताया कि अनुमान है कि आगामी पांच दिनों तक आसमान साफ रहेगा। वर्षा की कोई सम्भावना नहीं है। ऐसे में रात का पारा और नीचे जा सकता है। मौसम विभाग के अनुसार पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से ठंड बढ़ती जा रही है। वहीं, डॉक्टरों ने मौसम के बदलाव को गंभीरता से लेने को कहा है।  मौसम में आया अचानक बदलाव  बीते कुछ दिनों से दिन में धूप और गुनगुनी हो गई है। हवा में ठंडक अधिक महसूस की जाने लगी है। गुरुवार को न्यूनतम तापमान में हल्की कमी देखी गई। वहीं, शुक्रवार और शनिवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान में अचानक काफी गिरावट रही। रविवार दिन में धूप रही और शाम को ठंड महसूस हो रही है। शहर की हवा में प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है। शुक्रवार की तरह शनिवार को भी केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार हवा की गुणवत्ता खराब आंकी गई है।    किदवई नगर और नेहरू नगर की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित रही। शहर में शनिवार को एक्यूआई 213 रहा, जबकि शुक्रवार को 224 एक्यूआई था। शहर के कल्याणपुर और आईआईटी क्षेत्र में तो हालात बेहतर हैं, लेकिन किदवई नगर जैसे रिहायशी इलाके और व्यावसायिक क्षेत्र नेहरू नगर में प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है। शनिवार को एक्यूआई अधिकतम 342 तक गया, जबकि नेहरू नगर में यह 376 तक पहुंच गया। हवा की गुणवत्ता के ज्यादा समय तक इस स्तर पर बने रहने पर सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। फिलहाल प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का मानना है कि सर्दी के बढ़ने पर एक्यूआई और बढ़ सकता है।
कानपुर। उत्तर प्रदेश में नवम्बर के अंतिम दिनों में ठंड तेजी से बढ़ गई है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि नवम्बर माह में शुक्रवार का दिन सबसे ठंडा रहा है। रविवार दिन का अधिकतम तापमान 25.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। वहीं, रात का पारा दहाई के अंक से नीचे दर्ज हुआ है।

कानपुर में इस सीजन में पहली बार न्यूनतम तापमान दहाई के अंक से नीचे आ गया है। शुक्रवार देर रात यह 9.4 डिग्री रिकॉर्ड किया गया और रविवार को 9.6 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। यह सामान्य से 2.8 डिग्री सेल्सियस कम है। अधिकतम तापमान सामान्य से 2.6 डिग्री कम 25.4 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

मौसम विभाग के प्रमुख डॉ एस.एन. पांडेय ने बताया कि अनुमान है कि आगामी पांच दिनों तक आसमान साफ रहेगा। वर्षा की कोई सम्भावना नहीं है। ऐसे में रात का पारा और नीचे जा सकता है। मौसम विभाग के अनुसार पहाड़ों पर हो रही बर्फबारी की वजह से ठंड बढ़ती जा रही है। वहीं, डॉक्टरों ने मौसम के बदलाव को गंभीरता से लेने को कहा है।

मौसम में आया अचानक बदलाव

बीते कुछ दिनों से दिन में धूप और गुनगुनी हो गई है। हवा में ठंडक अधिक महसूस की जाने लगी है। गुरुवार को न्यूनतम तापमान में हल्की कमी देखी गई। वहीं, शुक्रवार और शनिवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान में अचानक काफी गिरावट रही। रविवार दिन में धूप रही और शाम को ठंड महसूस हो रही है। शहर की हवा में प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है। शुक्रवार की तरह शनिवार को भी केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार हवा की गुणवत्ता खराब आंकी गई है।

किदवई नगर और नेहरू नगर की हवा सबसे ज्यादा प्रदूषित रही। शहर में शनिवार को एक्यूआई 213 रहा, जबकि शुक्रवार को 224 एक्यूआई था। शहर के कल्याणपुर और आईआईटी क्षेत्र में तो हालात बेहतर हैं, लेकिन किदवई नगर जैसे रिहायशी इलाके और व्यावसायिक क्षेत्र नेहरू नगर में प्रदूषण का स्तर कम नहीं हो रहा है। शनिवार को एक्यूआई अधिकतम 342 तक गया, जबकि नेहरू नगर में यह 376 तक पहुंच गया। हवा की गुणवत्ता के ज्यादा समय तक इस स्तर पर बने रहने पर सांस लेने में तकलीफ हो सकती है। फिलहाल प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड का मानना है कि सर्दी के बढ़ने पर एक्यूआई और बढ़ सकता है।

From around the web