घर बैठे मुफ्त का वेतन ले रहे थे तीन अध्यापक, बीएसए ने तीनों को किया निलंबित

 
न

 

बलिया,- उत्तर प्रदेश के बलिया जनपद के बेसिक शिक्षा अधिकारी ने स्कूल जाने बिना घर बैठे मुफ्त का वेतन ले रहे दो प्राथमिक विद्यालयों के तीन अध्यापकों को मंगलवार को निलंबित कर दिया। इनमें एक प्रधानाध्यापक भी शामिल है।

विभाग के सूत्रो ने बताया कि बेसिक शिक्षा अधिकारी मनीराम सिंह ने जिले के रसड़ा शिक्षा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय चौहान बस्ती रामपुर व प्राथमिक विद्यालय लबकरा का सोमवार को निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान प्राथमिक विद्यालय चौहान बस्ती रामपुर की उपस्थित पंजिका पर सहायक अध्यापिका अर्चना का हस्ताक्षर था, पर वह विद्यालय पर उपस्थित नहीं पाई गई। सिंह ने मंगलवार को अर्चना का निलंबन आदेश जारी कर उन्हें कन्या प्राथमिक विद्यालय गढ़िया से सम्बद्ध कर दिया। इस मामले की जांच खण्ड शिक्षा अधिकारी मुरलीछपरा को सौंपी गई है।

शिक्षा क्षेत्र रसड़ा के ही प्राथमिक विद्यालय लबकरा में निरीक्षण के दौरान एक भी छात्र या अध्यापक उपस्थित नहीं मिले। इस दौरान विद्यालय में भोजन बनाने वाली सावित्री ने सिंह को बताया कि यहां कभी भी कोई छात्र या अध्यापक नहीं आते है। बीएसए ने विद्यालय पर तैनात प्रधानाध्यापक देवेन्द्र यादव व सहायक अध्यापिका प्रतिभा यादव को प्रथम दृष्टया विद्यालय न आकर घर बैठे वेतन लेकर सरकारी धन का दुरूपयोग करने एवं विद्यालय के छात्रों को शिक्षा से वंचित रखने के आरोप में निलंबित कर दिया। प्रधानाध्यापक को प्राथमिक विद्यालय रसड़ा नं. 4 व सहायक अध्यापिका को कम्पोजिट विद्यालय रसड़ा से सम्बद्ध किया है। मामले की जांच खंड शिक्षा अधिकारी सीयर को सौंपी गई है।

From around the web