रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा में मतदान आज, 35 लाख मतदाता करेंगे अपने नये खेवनहार का चुनाव

 
न

लखनऊ - उत्तर प्रदेश में रामपुर और आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव में गुरूवार को 35 लाख 45 हजार मतदाता गुरूवार को मतदान के जरिये अपने नये खेवनहार का चुनाव करेंगे।
दोनो ही निर्वाचन क्षेत्रों में संबंधित जिला प्रशासन ने सुरक्षा के चाकचौबंद इंतजाम किये हैं। मतदान सुबह सात बजे शुरू होकर शाम छह बजे तक चलेगा जिसके बाद भी कतार में लगे लोगों को मतदान का मौका दिया जायेगा।
रामपुर लोकसभा में 17 लाख छह हजार 590 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे जबकि आजमगढ़ में 18 लाख 38 हजार 930 मतदाता वोट डालेंगे। रामपुर में छह उम्मीदवार चुनाव मैदान में है जबकि आजमगढ़ में एक महिला प्रत्याशी समेत 13 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला किया जायेगा।
निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार दाेनो संसदीय क्षेत्रों में 4234 मतदेय स्थल और 2272 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। मतदान पर पैनी निगाह रखने के लिये दो सामान्य प्रेक्षक और दो व्यय प्रेक्षक तैनात किये गये हैं। इसके अलावा 291 सेक्टर मजिस्ट्रेट,40 जोनल मजिस्ट्रेट, 10 स्टैटिक मजिस्ट्रेट और 433 माइक्रो आब्जर्वर मतदान के दौरान ड्यूटी को अंजाम देंगे।
मतदान को निर्विघ्न संपन्न कराने के लिये स्थानीय पुलिस के अलावा केन्द्रीय सुरक्षा बलों के जवान चप्पे चप्पे पर तैनात रहेगे।
समाजवादी पार्टी (सपा) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के लिये प्रतिष्ठा का सवाल बने इस उपचुनाव में बहुजन समाज पार्टी (बसपा) ने आजमगढ़ में मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया है। 2019 के लोकसभा चुनाव में रामपुर से सपा के मोहम्मद आजम खान की जीत हुयी थी जबकि आजमगढ से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव जीते थे। इसी साल विधान सभा चुनाव में मोहम्मद आजम खान ने रामपुर सदर से और अखिलेश यादव ने मैनपुरी की करहल विधानसभा सीट से चुनाव जीतने के बाद लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था जिसके चलते यह उपचुनाव हो रहा है। भाजपा ने आजमगढ़ से भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ को मैदान में उतारा है। निरहुआ को 2019 में अखिलेश के हाथो करारी हार का सामना करना पड़ा था। इस बार उनका मुकाबला अखिलेश के चचेरे भाई धमेन्द्र यादव से है हालांकि बसपा उम्मीदवार शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली सपा और भाजपा की गणित में उलटफेर कर सकते हैं।
रामपुर मेंं हालांकि सपा और भाजपा के बीच सीधा मुकाबला है। यहां भाजपा के उम्मीदवार घनश्याम लोधी है जहां उनकी टक्कर सपा के असीम राजा से है। रामपुर सीट मोहम्मद आजम खान की प्रतिष्ठा का सवाल है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह समेत कई कद्दावर नेता और मंत्री रामपुर में प्रचार कर चुके हैं। भाजपा की कोशिश आजमगढ़ और रामपुर को सपा के कब्जे से लेने की होगी हालांकि आखिरी फैसला कल यहां के मतदाता के हाथों में होगा।

From around the web