मेरठ के बाद अब आगरा में पकड़ा गया दरोगा भर्ती परीक्षा का सोल्वर गैंग, तीन गिरफ्तार

 
2

आगरा। यूपी के आगरा में दरोगा भर्ती में सेंध लगाने वाले सॉल्वर गैंग का नोएडा एसटीएफ ने पर्दाफाश कर दिया। एसटीएफ ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। यह एजेंट पांच लाख रुपए में परीक्षा पास कराने का ठेका लेते थे। पकड़े गए आरोपियों के विरुद्ध थाना खंदौली में मुकदमा दर्ज कराया गया है।
एसटीएफ नोएडा को सूचना मिली थी कि पुलिस दरोगा भर्ती में सेंध लगाने के लिए सॉल्वर गैंग रुपए लेकर परीक्षा पास कराने की योजना बना रहे हैं। इस पर एएसपी एसटीएफ राजकुमार मिश्रा के नेतृत्व में टीम ने आगरा में छापेमारी करते हुए तीन लोगों को पकड़ लिया। पकड़े गए लोगों ने अपने नाम बंटी कुमार निवासी पहाडीपुर थाना इगलास अलीगढ़, हरेंद्र सिंह निवासी बिरौली थाना अनपूशहर बुलंदशहर और अविनाश कुमार निवासी तुलसीपुर घोरघाट थाना बडियापुर मुंगेर बिहार बताया। एएसपी ने बताया कि सोमवार को अलीगढ़ निवासी राजकुमार शर्मा को गौतमबुद्ध नगर में परीक्षा के दौरान सॉल्वर बैठाने के मामले में पकड़ा था। उससे पूछताछ में पता चला कि खंदौली स्थित आरबीएस इंस्टीट्यूट में आयोजित दरोगा भर्ती परीक्षा में एजेंट बंटी कुमार ने भी परीक्षार्थी हरेंद्र सिंह के स्थान पर सॉल्वर अविनाश को बैठाया है। टीम ने कार्रवाई करते हुए इंस्टीट्यूट के पास से तीनों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए आरोपियों के पास से दो एडमिट कार्ड, दो आधार कार्ड, एक कार, छह हजार रुपए बरामद किए हैं। इन तीनों को आरबीएस इंस्टीटयूट खंदौली के पास से गिरफ्तार किया गया है। एसटीएफ एएसपी ने बताया कि आरोपी बंटी ने राजकुमार के साथ बैठकर परीक्षा में पास कराने का तरीका सीखा था। बंटी स्वयं बीएड पास है। उसकी मुलाकात वर्ष 2019 में एक शादी समारोह में परीक्षार्थी हरेंद्र सिंह से हुई थी। हरेंद्र ने अलीगढ़ के कालेज से एमसीए किया है। मुंगेर का रहने वाला अविनाश बंटी का दोस्त है। दोनों ने एक साथ बीएड किया था। इस परीक्षा में बैठाने के लिए अविनाश को भेजा था। बंटी वर्ष 2017 से विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा में सॉल्वर बैठाने का काम कर रहा है। इसके लिए दो से पांच लाख तक लेता है। बंटी ने हरेंद्र को परीक्षा में पास कराने के लिए पांच लाख रुपये में सौदा किया था।

From around the web