अखिलेश यादव चुनावी हिंदू, धर्म अंधविश्वास ही लगेगा'... बीजेपी के निशाने पर सपा प्रमुख

 
म

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक इंटरव्यू में कहा कि धर्म भी कभी-कभी अंधविश्वास होता है... इस मामले को भारतीय जनता पार्टी ने लपक लिया है और बीजेपी इसे बड़ा मुद्दा बनाने में जुट गई है. भाजपा ने कहा है कि अखिलेश यादव ने लोगों की भावनाएं आहत की हैं और उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए.

दरअसल, सोमवार को समाचार चैनल 'आजतक' ने सपा अध्यक्ष से एक इंटरव्यू में पूछा था कि अपने कार्यकाल में वह कभी नोएडा क्यों नहीं गए. इस पर अखिलेश पहले नोएडा में किए गए काम गिनाकर जवाब से बचने की कोशिश करते रहे. लेकिन जब दोबारा उनसे यही सवाल पूछा गया तो हंसते हुए उन्होंने नोएडा वाली डर का सच स्वीकार कर लिया


उन्होंने कहा, "नोएडा इसलिए नहीं गया क्योंकि माना जाता है कि जो चला जाता है वह मुख्यमंत्री नहीं आ पाता है. हमारे बाबा मुख्यमंत्री (योगी आदित्यनाथ) हो आए अब दोबारा मुख्यमंत्री नहीं बनेंगे." एंकर ने जब इसे अंधविश्वास कहा तो अखिलेश बोले, "हां, तो धर्म भी कभी-कभी अंधविश्वास होता है । "

वहीं, इस पूरे मामले पर यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने आलोचना करते हुए कहा कि अखिलेश को लोगों से माफी मांगनी चाहिए. मौर्य ने कहा, "धर्म को अंधविश्वास बताने से लोगों की भावनाएं आहत हुईं हैं. मैं चाहता हूं कि वे माफी मांगे."

From around the web