आशीष मिश्र की जमानत अर्जी खारिज, अंकित दास भी किये गए गिरफ्तार, ड्राइवर की मिली रिमांड 

 
न

लखीमपुर खीरी - पिछली तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया में हुयी हिंसा के मुख्य आरोपी आशीष मिश्र का जमानत अर्जी मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की अदालत ने खारिज कर दी है।
आशीष को हिंसा की वारदात के छठे दिन शनिवार को गिरफ्तार किया गया था। उस पर आरोप है कि जिस जीप से किसानो को कुचला गया, उसे आशीष चला रहा था। इस घटना में चार किसानो की मौत हो गयी थी जिसके बाद आक्रोशित भीड़ ने चालक हरिओम मिश्रा  के अलावा दो भाजपा समर्थकों की पीट पीट कर हत्या कर दी थी।
अदालत ने आशीष को तीन दिन की रिमांड पर पुलिस के हवाले किया था। इस बीच केन्द्रीय राज्य मंत्री के पुत्र आशीष की जमानत की अपील मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत में की गयी थी जिसे आज खारिज कर दिया गया।

इस बीच लखीमपुर हिंसा मामले की जांच कर रही एसआईटी ने बुधवार को आशीष के मित्र अंकित दास एवं एक अन्य को लखनऊ से गिरफ्तार कर लिया। तिकुनिया घटना को लेकर केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा की गिरफ्तारी के बाद सह अभियुक्त कांग्रेस सांसद अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास को पांच घंटे की कड़ी पूछताछ के बाद जेल भेज दिया गया।

न्यायालय की सख्ती के बाद हरकत में आई जांच टीम ने मामले में गिरफ्तारी का दौर तेज कर दिया है। शायद यही कारण है कि केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा उर्फ मोनू की गिरफ्तारी से अब तक पुलिस ने इस मामले में छह लोगों को  गिरफ्तार किया है। मंगलवार को न्यायालय में हाजिर होने का प्रार्थना पत्र देने वाला लखनऊ निवासी अंकित दास बुधवार को अपने अधिवक्ताओं के साथ एसआईटी के समक्ष पेश हुआ।

इससे पहले एसआईटी ने मंगलवार शाम बुलावे का नोटिस उनके लखनऊ स्थित आवास पर चस्पा किया था। इस नोटिस में बुधवार सुबह 11 बजे तक हर हाल में अंकित को एसआईटी के समक्ष प्रस्तुत होना था। एसआईटी के समक्ष पेश होने पर पांच घंटे तक घटना को लेकर पूछताछ की गई। इसके बाद उसे न्यायालय के सम्मुख प्रस्तुत किया गया, जहां न्यायाधीश ने उसे जेल भेज दिया।

मामले में एसपी खीरी विजय ढुल ने जानकारी देते हुए बताया कि एसआईटी टीम ने एक और आरोपित लतीफ उर्फ काले को गिरफ्तार किया था। इसे भी एसआईटी टीम द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत किया गया था, जहां एसआईटी टीम ने अभियुक्तों को 14 दिन के लिए पुलिस अभिरक्षा रिमांड में दिए जाने का अनुरोध न्यायालय से किया है, जो अभी विचाराधीन है।
 

इसी बीच  मंगलवार को गिरफ्तार किए गए अंकित दास के चालक शेखर भारती से पूछताछ के लिए पुलिस को तीन दिन की रिमांड अर्जी कोर्ट ने स्वीकृति दे दी है।

 एसपी विजय ढुल ने इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि एसआईटी ने मंगलवार को अंकित दास के ड्राइवर शेखर भारती को गिरफ्तार किया था। उसे आज न्यायालय के समक्ष पेश किया गया। जहां न्यायालय में विवेचक ने साक्ष्यों को एकत्र करने के लिये शेखर भारती की 14 दिन की पुलिस अभिरक्षा रिमांड के लिये प्रार्थना पत्र दिया था। बुधवार को न्यायालय में सुनवाई के बाद शेखर भारती की तीन दिन की पुलिस अभिरक्षा रिमांड की अनुमति दे दी है। गुरुवार सुबह पुलिस शेखर भारती को जेल से अपनी रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी।

From around the web