रालोद के जिलाध्यक्ष समेत परिवार के कई लोगों पर दहेज हत्या का मुकदमा, पुलिस ने कराया दर्ज 

 
R
बागपत। युवा रालोद के जिलाध्यक्ष की भाभी की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में पुलिस ने शिकंजा कस दिया है। रालोद युवा जिलाध्यक्ष समेत कई लोगों के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कराया गया है।
ग्राम निबाली निवासी युवा रालोद के जिलाध्यक्ष एडवोकेट श्रीकांत धामा की भाभी सपना की मंगलवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी। इस मामले में कोतवाली प्रभारी तपेश्वर सागर ने मुकदमा दर्ज कराया कि उनके सीयूजी नंबर पर एक व्यक्ति विक्रम ने अवगत कराया था कि उसकी बहन सपना को ससुरालीजन ने दहेज के कारण फांसी लगाकर मार दिया है। सपना का शव घर पर ही है। जिसकी अंत्येष्टि की तैयारी चल रही है। वह पुलिस टीम के साथ गांव में पहुंचे तो सपना के शव की खेत पर नलकूप के पास अंत्येष्टि की जा चुकी थी। सपना के भाई भगत, विक्रम व अन्य उपस्थित लोगों से वार्ता की गई तो बताया गया कि परस्पर सहमति के आधार पर सपना के शव की अंत्येष्टि की गई है। लेकिन सूचना दहेज प्रताड़ना के चलते फांसी लगाकर मारने की प्राप्त हुई थी। सपना की मृत्यु फांसी पर लटककर होने की पुष्टि हुई। सपना का अंतिम संस्कार कर प्रथम सूचना के उपरांत साक्ष्य नष्ट करने का कार्य सपना के पति विक्रांत, ससुर रामपाल व देवर श्रीकांत तथा अन्य स्‍वजन ने सपना के मायकेवालों को सहमत कर किया है। उधर सीओ अनुज कुमार मिश्र का कहना है कि केस की विवेचना के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। 
रालोद के वरिष्ठ नेता हैंं रामपाल धामा
नामजद आरोपितों में सपना के ससुर रामपाल धामा भी शामिल हैं। वह रालोद के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के पूर्व उपाध्यक्ष तथा पंचायती राज ग्राम प्रधान संगठन के पूर्व अध्यक्ष हैं।

From around the web