बिजनौर में व्यापारी से हुई लूट का खुलासा, एक लाख से ज़्यादा नकदी बरामद, चार गिरफ्तार

 
न

बिजनौर,- उत्तर प्रदेश में बिजनौर शहर कोतवाली में हुई लूट की घटना का खुलासा करने हुए पुलिस ने चार बदमाशों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से लाखों की नकदी और अन्य सामान बरामद किया।
पुलिस प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि नौ अक्टूबर को बिजनौर कोतवाली इलाके में बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था। इस घटना का खुलासा करने के लिए पुलिस की टीम लगी थी। उन्हाेंने बताया कि सूचना मिलने पर कोतवाली शहर पुलिस और क्राइम ब्रान्च की टीम ने सूचना पर संयुक्त रुप से कार्रवाई करते हुए काली मन्दिर चौराहा के पास चेकिंग के दौरान चार बदमाशों बिजनौर निवासी मौसम उर्फ मोहसीन ,दीपक,मलखान और प्रवेन्द्र उर्फ गंजा को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से लूट की घटना का 01 लाख 20 हजार रूपये नगद, लूट का लैपटॉप के अलावा चार तमंचे ,कारतूस और घटना में प्रयुक्त दो मोटर साइकिल बरामद की गई।
उन्होंने बताया कि गिरफ्तार बदमाश शातिर किस्म के अपराधी हैं, जिसके विरूद्ध बिजनौर जिले के विभिन्न थानो में लूट, आर्म्स एक्ट आदि के कई अभियोग पंजीकृत हैं। गिरफ्तार बदमाशों से बरामद रूपया, लैपटॉप आदि नौ अक्टूबर की लूट की घटना से सम्बन्धित है। गिरफ्तार आरोपियों को जेल भेज दिया।

मामला बिजनौर थाना कोतवाली शहर के नई बस्ती इलाके का है। जहाँ  2 दिन पहले किराना के थोक व्यापारी राजीव अग्रवाल अपनी दुकान बंद करके घर जा रहे थे। जैसे वह घर के पास पहुंचे, तभी चार बदमाशों ने उनके साथ मारपीट कर दो लाख 40 हजार रुपए और एक लैपटॉप लूट लिया। सूचना पर एसपी डॉ धर्मवीर सिंह घटनास्थल का निरीक्षण करने पहुंचे थे। उन्होंने तीन टीमों को खुलासे के लिए लगा दिया था।पकड़े गए बदमाशों के पास से लूटी गई रकम में से 1 लाख 20 हजार रुपए, लैपटॉप और चार तमंचे भी बरामद किए हैं। पकड़े गए चारों का नाम मौसम, दीपक, मलखान और प्रवेंद्र हैं। इनमें से मलखान व्यापारी के यहां काफी पहले नौकरी करता था। उसने पुलिस को बताया कि मालिक राजीव अग्रवाल ने उसके साथ मारपीट कर उसे नौकरी से निकाल दिया था। जिससे उसकी बहुत बेइज्जती हुई थी। इसी का बदला लेने के लिए उसने अपने साथ तीन और साथी मिलाए। लूट की योजना बनाकर उसने घटना को अंजाम दिया।

From around the web