बीजेपी नेता के बेटे की हत्या, न्याय के लिए बेटे की अस्थियां लेकर बीजेपी नेता ने पत्नी के साथ शुरू किया अनशन

 
न
बांदा। शहर के बहुचर्चित अमन हत्याकांड में आज उस समय नया मोड़ आ गया जब भाजपा नेता संजय त्रिपाठी, अपनी पत्नी मधु त्रिपाठी के साथ बेटे के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर अशोक की लाट पर अनशन शुरू कर दिया। अनशन पर बैठे माता-पिता ने ऐलान किया है कि वह तब तक अनशन पर बैठे रहेंगे जब तक उन्हें न्याय नहीं मिलेगा।

भाजपा नेता संजय त्रिपाठी ने बताया कि उनके बेटे की हत्या में शामिल हत्यारों को बचाने के लिए सत्ता पक्ष के माननीय मुझ पर दबाव बना रहे हैं कि कह रहे हैं कि नाटक बंद करो।उन्होंने कहा कि मैं डरने वाला नहीं हूं। बेटे के हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए अंतिम सांस तक लड़ता रहूंगा।

उनके इस आंदोलन में समाजवादी पार्टी ने भी समर्थन व्यक्त किया है। पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष समीर बांदवी ने कहा है कि समाजवादी पार्टी पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए उनके साथ है। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी इस घटना पर नजर बनाए हुए हैं।

बताते चलें कि बांदा शहर के बंगालीपुरा निवासी भाजपा नेता  संजय त्रिपाठी के 14 वर्षीय पुत्र अमन का शव कनवारा गांव के पास केन नदी में 11 अक्तूबर को मिला था। वह दोस्तों के साथ बर्थ-डे पार्टी में शामिल होने की बात कहकर घर से निकला था।12 अक्तूबर को पिता संजय ने शहर कोतवाली में हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। हालांकि पुलिस इसे डूबकर मरने की घटना बताती रही। अमन के माता-पिता की इस मांग पर भाजपा नेताओं ने भी सिफारिश करके पुलिस महानिरीक्षक से किसी अन्य जिले की पुलिस से जांच कराने को कहा था। इस पर महानिरीक्षक ने हमीरपुर पुलिस की क्राइम ब्रांच को जांच सौंप दी। जांच अभी चल रही है।

सोमवार को डीएम को दी अर्जी में पिता संजय ने कहा है कि उसके बेटे की पोस्टमार्टम रिपोर्ट व मेडिकोलीगल सेल की जांच में हेराफेरी की गई। इसकी आशंका वह पहले ही जाहिर कर चुके थे। कहा कि इन जांचों से वह संतुष्ट नहीं हैं। उन्होंने कहा कि बेटे की सुनियोजित ढंग से हत्या की गई है।इसमें पुलिस, प्रशासन और प्रभावशाली व्यक्तियों की संलिप्तता साफ नजर आ रही है। संजय त्रिपाठी ने डीएम से मांग की है कि उनके पुत्र की हत्या की जांच न्यायिक और सीबीआई से कराई जाए। तभी न्याय मिलेगा।

From around the web