भाजपा युवा मोर्चा के जिलाध्यक्ष के गांव में हंगामा, फायरिंग,अध्यक्ष की गिरफ़्तारी को लेकर भाकियू-करणी सेना ने दिया धरना 

 
न

बुलंदशहर,- उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर जिले में बीजेपी युवा मोर्चा  जिलाध्यक्ष के गांव में सफाई को लेकर हंगामा हो गया जिसके बाद जिलाध्यक्ष ने खुद पर फायरिंग होने का भी मुकदमा दर्ज कराया है ,हंगामा इतना बढ़ा कि भाकियू और करनी सेना ने रास्ता भी जाम कर दिया जिसे अफसरों ने समझाबुझाकर खत्म कराया। 

सिकंदराबाद इलाके में दूल्हेरा गांव में नाली की सफाई को लेकर हुए दो पक्षों के बीच हुए संघर्ष में दो महिलाओं समेत पांच लोग घायल हो गए ।
पुलिस सूत्रों ने  बताया कि सिकंदराबाद कोतवाली इलाके के दूल्हेरा गांव में भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष दीपक दूल्हेरा की भाभी निर्वाचित ग्राम प्रधान है । मंगलवार को गांव में नाली की सफाई को लेकर कहासुनी हो गई थी। बात बढ़ने पर ग्राम प्रधान पक्ष व पराजित कृष्णा भाटी पक्ष के लोग लाठी डंडे लेकर आमने सामने आ गए और एक दूसरे पर पथराव किया। इस संघर्ष में दो महिला समेत पांच लोग घायल हो गये। घायलों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।
इस घटना के संबंध में आज वायरल वीडियो में भाजपा नेता को दूसरे पक्ष के लोगों पर हमला करते हुए दिखाया गया है । भाजपा नेता की गिरफ्तारी को लेकर आज ककोड़ सिकंदराबाद मार्ग पर भारतीय किसान यूनियन और करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने सड़क पर धरना देकर यातायात जाम कर दिया।
उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में कृष्णा भाटी पक्ष की ओर से सिकंदराबाद थाने में भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष समेत 21 लोगों को नामजद करते हुए 30 40 अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई  है जबकि भाजपा नेता के पक्ष की ओर से दर्ज कराई रिपोर्ट में कृष्णा भाटी ,अमरवती ,बबली , राजू ,कुलदीप आदि को नामजद किया गया हैं।
इस बीच भाजपा युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष दीपक दूल्हेरा ने अपनी नामजदगी को झूठा बताते हुए जानकारी दी कि वे मंगलवार  की शाम प्रदेश भाजपा युवा मोर्चा के अध्यक्ष प्रांशु दत्त द्विवेदी के स्वागत समारोह के बाद बुलंदशहर से अपनी कार से गांव लौट रहे थे तो कुछ लोगों ने उनकी कार पर फायरिंग की ,जिससे वे बाल बाल बच गए। उन्होंने भी तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज करने की मांग की।
सड़क जाम की सूचना मिलने पर क्षेत्राधिकारी नम्रता श्रीवास्तव और प्रभारी निरीक्षक जयकरण सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और लोगों को समझा-बुझाकर धरना समाप्त करा कर जाम हटवा दिया ।
पुलिस क्षेत्राधिकारी नम्रता श्रीवास्तव ने बताया कि पुलिस दोनों पक्षों द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमों के आधार पर जांच पड़ताल में लगी है और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने बताया कि गांव की स्थिति नियंत्रण में है और एहतियातन गांव में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है।

From around the web