बिजली चोर को पकड़ने गई टीम के कर्मचारियों को सड़क पर गिरा-गिराकर पीटा

 
1
 
बुलंदशहर। जिले में बिजली चोरों के हौसले बुलंद हैं। जमकर हो रही बिजली चोरी को रोकने के लिए नगर में अभियान चलाया हुआ है। इस अभियान के तहत सर्वाधिक लाइन लॉस वाले इलाकों में अभियान चलाया जा रहा है। मोहल्ला धमैड़ा अडडा में बिजली चोरी पकड़ने के लिए गई छापेमारी टीम का लोगों ने पहले तो विरोध किया। इसके बाद छापेमारी टीम पर उग्र लोगों ने हमला कर दिया। इस हमले में छापेमारी टीम में शामिल कई लोग घायल हो गए। छापेमारी टीम को घेरकर लोगों ने लाठी-डंडों से बुरी तरह से पीटा। कर्मचारी सड़क पर पड़े थे और लोग लाठी-डंडे बरसा रहे थे। कुछ कर्मचारियों ने तो भागकर अपनी जान बचाई। अवर अभियंता ने तीन नामजद समेत छह के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है। जबकि पुलिस के पहुंचने से पहले सभी आरोपी मौके से फरार हो गए। पुलिस के हत्थे अभी तक एक भी आरोपी नही चढ़ा है। वहीं लोगों ने चेतावनी दी है कि अगर किसी को बेवजह पुलिस ने गिरफ्तार किया तो वे धरना-प्रदर्शन करेंगे। 
देवीपुरा द्वितीय बिजलीघर के अवर अभियंता अमित कुमार ने नगर कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि उन्होंने बिजली चोरी की चेकिंग के लिए टीजीटू कासिम, सलमान, राजकुमार, ईश्वरचंद को धमैड़ा अड्डा भेजा था। लोगों ने चेकिंग के लिए टीम का विरोध किया। इसी दौरान एक गली से लोगों की भीड़ लाठी-डंडे हाथ में लेकर निकली और उसने टीम पर हमला कर दिया। हमलावारों ने टीम के कई कर्मचारियों को सड़क पर गिराकर पीटा। साथ ही लाइनमैन सलमान का मोबाइल भी तोड़ दिया। कर्मचारियों ने वहां से भागकर जान बचाई। कर्मचारियों ने हमलावरों की शिनाख्त लवकुश, रोबिन, गजेंद्र के रूप में की है। तीन अन्य की पहचान नहीं हो सकी। नगर कोतवाली पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर ली है। बता दे कि जिले में बिजलीकर्मियों से मारपीट के कई मामले हाल के दिनों में आ चुके हैं। बिजली टीम पर हमले के बारे में एसएसपी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। नामजद आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है। अज्ञात आरोपियों की पहचान कर उनको भी गिरफ्तार किया जाएगा।

From around the web