कांग्रेस से टिकट मिलने के अगले ही दिन हुआ मोहभंग, सपा में शामिल हुए बसपा के पूर्व विधायक 

 
न

लखनऊ,-उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्दनेजर इन दिनों चल रहे नेताओं के दल-बदल के दौरान एक अनूठी मिसाल पेश करते हुये कांग्रेस के एक उम्मीदवार का अपनी पार्टी से टिकट मिलने के महज 24 घंटे के भीतर ही मोहभंग हो गया।

एक तरफ विभिन्न दलों में टिकट कटने के खतरे को भांप कर नेता दूसरे दलों का रुख कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस से रामपुर जिले की चमरौआ सीट से टिकट मिलने के एक दिन बाद यूसुफ अली यूसुफ ने शुक्रवार को समाजवादी पार्टी (सपा) का दामन थाम लिया। यूसुफ को इस सीट से उम्मीदवार बनाने की घोषणा गुरुवार को खुद पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी ने उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करते हुये की थी।

इसके अगले ही दिन यूसुफ, कांग्रेस  छोड़ कर स्वामी प्रसाद मौर्य के नेतृत्व में सपा का दामन थामने वाले नेताओं की लाइन में सपा कार्यालय में खड़े दिखे। यूसुफ 2012 में बसपा के टिकट पर चमरौआ सीट से ही विधायक बने थे। इसके बाद 2017 में भी बसपा ने ही उम्मीदवार बनाया था लेकिन वह चुनाव हार गये।

इसके बाद उन्होंने बसपा छोड़कर कांग्रेस का हाथ पकड़ लिया। कांग्रेस ने यूसुफ को 125 उम्मीदवारों की पहली सूची में शामिल कर एक बार फिर चुनाव लड़ने का मौका दिया। मगर टिकट मिलने के महज एक दिन के भीतर ही वह सपा की साइकिल पर सवार हो गये। देखने वाली बात होगी कि उन्हें सपा से टिकट मिलता है या नहीं।

From around the web