कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर संसद भवन पर धरना देने यूपी गाजीपुर बॉर्डर से निकले करीब 200 किसान

 
1

गाजियाबाद। यूपी गेट गाजीपुर बॉर्डर पर बड़ी संख्या में पिछले 8 महीने से किसान कृषि कानून की वापसी की मांग को लेकर धरने पर बैठे हुए हैं।अपनी रणनीति के तहत गुरुवार को दिन निकलते ही किसान संसद के बाहर धरना देने के लिए निकल गए। किसानों के नेता राकेश टिकैत ने बताया कि इन दिनों संसद सत्र चल रहा है। संसद भवन के अंदर सत्र चलता रहेगा और करीब 200 किसान संसद के बाहर धरने पर बैठकर अपनी बात को सरकार के समक्ष रखेंगे।

राकेश टिकैत ने बताया कि सरकार के द्वारा किसानों लगाए गए तीन कृषि कानून की वापसी की मांग को लेकर बड़ी संख्या में किसान करीब 8 महीने से गाजियाबाद के यूपी के गाजीपुर बॉर्डर पर धरने पर बैठे हुए हैं। लगातार किसानों के आग्रह के बाद भी सरकार झुकने को तैयार नहीं है।लेकिन किसान भी अपनी बात पर अडिग हैं।उन्होंने कहा कि हालांकि संसद सत्र में विपक्ष भी अपनी बात रख रहा है।लेकिन विपक्ष का अपना काम है और किसानों का अपना काम है। उन्होंने कहा कि किसानों की आपसी सहमति के बाद यह निर्णय लिया गया है।कि गुरुवार को 200 किसान संसद के बाहर बैठकर धरना देंगे और अपनी बात सरकार तक पहुंच जाएंगे।राकेश टिकैत का कहना है कि सरकार के द्वारा बनाए गए तीनों कृषि कानून वापस लिए जाएं और एमएसपी पर गारंटी ली जाए उसके बाद किसानों का धरना समाप्त होगा।

करीब 200 किसान यूपी गेट बॉर्डर से संसद के बाहर धरना देने के लिए निकल तो गए हैं। लेकिन क्या संसद के बाहर तक किसानों को जाने दिया जाएगा या नहीं।इसकी जानकारी वहां पहुंचने के बाद ही मिल पाएगी।क्योंकि दिल्ली पुलिस भी किसानों के ऐलान के बाद पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दे रही है।

From around the web