गाजियाबाद में कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा, वैक्सीनेशन कार्य तेज 

 

गाजियाबाद। दिल्ली से सटे गाजियाबाद में भी कोविड-19 संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। चिकित्सकों की मानें तो यह सेकेण्ड फेस का वायरस बेहद खतरनाक है।यदि घर के एक सदस्य को यह अपनी गिरफ्त में ले लेता है तो निश्चित तौर पर पूरे घर को अपनी चपेट में ले लेता है। इसलिए सभी लोगों को इससे बचाव के लिए बेहद सावधानी की आवश्यकता है। उधर जिला प्रशासन भी इस पूरे मामले को लेकर अलर्ट मोड पर आ गया है और प्रशासन के द्वारा भी लगातार इस सेकेण्ड फेस के कोरोना से बचाव के लिए तमाम तरह की योजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। खासतौर से वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा है।
इस पूरे मामले की जानकारी देते हुए जिला चिकित्सालय पर कोरोना वैक्सीनेशन और कोविड-19 संक्रमित मरीजों के उपचार करने वाले वरिष्ठ चिकित्सक डॉ आरसी गुप्ता ने बताया कि कोरोना का द्वितीय फेस बेहद खतरनाक है और अब गाजियाबाद में भी इसने दस्तक दे दी है। कई इलाकों में संक्रमित लोग पाए गए हैं। हालांकि प्रशासन इसके प्रति बेहद गंभीर है लगातार लोगों को इसके प्रति जागरूक किया जा रहा है ।लगातार जिला अस्पताल में वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। सभी लोगों को वैक्सीनेशन अवश्य करानी चाहिए। इसके अलावा जो भी लोग कोरोना से ग्रसित पाए जा रहे हैं ।उनके लिए भी जिला अस्पताल में विशेष प्रबंध किया गया है। ताकि उनका उपचार सही समय पर और ठीक से किया जा सके। डॉ आर सी गुप्ता ने बताया कि यदि किसी शख्स को सांस लेने में परेशानी, नाक से पानी बहना, बुखार ,खांसी ,उल्टी दस्त और छाती में जकड़न  महसूस हो, तो तत्काल प्रभाव से कोरोना का टेस्ट कराया जाना चाहिए। ताकि समय रहते ही उपचार किया जा सके। उन्होंने कहा कि इस पूरे मामले में यदि किसी को इस तरह के लक्षण पाए जाते हैं तो लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा इतना ही नहीं यदि किसी शख्स के आसपास भी इस तरह के लक्षण पाए जाने वाला कोई शख्स पाया जाता है। तो इसकी सूचना उसे भी स्वास्थ्य विभाग को देनी चाहिए।
बाईट डॉ आर सी गुप्ता
वहीं गाजियाबाद के जिलाधिकारी डॉ. अजय शंकर पांडेय ने गुरुवार को तत्काल प्रभाव से रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक के लिए सात घंटे का नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया है। जिला प्रशासन की ओर जारी आदेश के अनुसार, कंटेनमेंट और रेड जोन के लिए भी नई व्यवस्थाएं लागू की गई हैं। यहां पार्क, सामुदायिक केंद्र और जिम भी एक बार फिर से बंद कर दिए गए हैं।

From around the web