गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला, राकेश टिकैत से की गोपनीय बैठक  

 
1

गाजियाबाद।  गाजीपुर बॉर्डर पर करीब 7 माह से अधिक समय से किसानों का आंदोलन चल रहा है। मंगलवार को किसानों के आंदोलन को समर्थन देने हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला गाजीपुर बॉर्डर पर पहुंचे। जहां पर उन्होंने किसान नेता राकेश टिकैत से मुलाकात की। राकेश टिकैत से उन्होंने मुलाकात के बाद कुछ देर बंद कमरे में एक गोपनीय बैठक भी की। इस बैठक में क्या नई नीति पर विचार हुआ इसकी किसी को भी कोई जानकारी नहीं हो पाई।  इसके बाद ओमप्रकाश चौटाला मीडिया से मुखातिब हुए।

गाजीपुर बॉर्डर पर राकेश टिकैत से मुलाकात के बाद ओम प्रकाश चौटाला से पत्रकारों ने पूछा कि किसान आंदोलन को इतने महीने हो गए हैं। संसद का सत्र भी चल रहा है। विपक्ष इसे किस नजरिए से देखता है ? इस सवाल पर ओम प्रकाश चौटाला ने मौजूदा सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि सत्ता गलत हाथों में चली गई है। यह कानून किसान विरोधी कानून है। उन्होंने कहा कि पहले दिन से ही हम लोग इस बात को रख रहे हैं। हरियाणा में विपक्ष मजबूती के साथ किसानों की एक आवाज के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि हमारी तो कल भी यही मांग थी और आज भी वही मांगे हैं। इन कानूनों को निरस्त करा जाए। किसान सर्दी ,गर्मी, बरसात सभी मौसम में यहां मौजूद है। किसानों का भारी नुकसान हो रहा है। उन्होंने कहा कि किसान को एक तरफ अन्नदाता कहा जाता है और इस देश में आजकल अन्नदाताओं का बेहद अपमान भी हो रहा है। ओम प्रकाश चौटाला ने मौजूदा सरकार पर तमाम प्रहार किए। उन्होंने कहा कि सरकार ने जिस तरह का तानाशाही रवैया इख्तियार किया हुआ है। इसका खामियाजा सरकार को आने वाले चुनाव में अवश्य भुगतना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि उनकी इनेलो पार्टी हमेशा से ही किसान हितैषी रही है और वह हमेशा किसानों के साथ रहेगी।

From around the web