गाजियाबाद में ओएलएक्स पर चोरी का वाहन बेचने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार

 
म

गाजियाबाद। थाना कौशांबी पुलिस ने रविवार को एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है जो ओएल एक्स पर फर्जी नम्बर से गाड़ियां बिक्री के लिए डालता था और फिर उनको बेच देता था। पुलिस ने इस गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। उनकी निशानदेही पर 21 दोपहिया वाहन बरामद किये हैं। इस गिरोह में शामिल अन्य दो लोग फरार बताए जा रहे है।

पुलिस अधीक्षक नगर द्वितीय ज्ञानेंद्र सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पुलिस ने मैक्स कट के पास वाहनों की चेकिंग के दौरान वाहन सवार दो युवकों को रोककर पूछताछ की। अभियुक्तों ने अपने नाम बदमाश फरीद नगर निवासी शादाब तथा कैला भट्टा निवासी मुशीर मलिक बताया। पूछताछ की गई तो पता चला है कि ये एक बड़े गिरोह के सदस्य हैं जो ओएलएक्स पर चोरी की गाड़ियां डालकर उनके नम्बर व चेसिस के नम्बर के फर्जी कागजात कराकर उनको बेचते थे।

उन्होंने बताया कि रमन सरकार नामक युवक जो दिल्ली आरटीओ में दलाल है उन्हें फर्जी एनओसी व अन्य कागजात उपलब्ध कराता था। इसकी एवज में वह प्रति वाहन पर उनसे ढाई से तीन हजार रुपये लेता था। इतना ही नहीं यह लोग जो भी वाहन चुराते थे उस पर दूसरे नम्बर से मॉडल का कागज तैयार करा लेते थे और फिर उसको ओएलएक्स पर डालकर बेचते थे। अनस और रमन सरकार फरार हैं।

ज्ञानेंद्र सिंह ने बताया कि ये लोग अब तक 100 से ज्यादा वारदातों को अंजाम दे चुके हैं। यह गिरोह पिछले 4-5 सालों से सक्रिय था। गिरफ्तार लोगों से विस्तृत जानकारी हासिल की जा रही है। साथ ही जो फरार आरोपी है उनकी तलाश सरकारी से की जा रही है।

From around the web