पति की सिपाही पत्नी से हुई अनबन तो खोल दी फर्जीवाड़े की पोल, दोनों के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

 
न
मुरादाबाद। पत्नी के फर्जीवाड़े की शिकायत करना पति को महंगा पड़ गया। नौकरी की उम्र निकलने के बाद एक विवाहिता ने शादी के बाद दोबारा हाईस्कूल और इंटरमीडिएट किया। जब पति ने इसकी शिकायत की तो पुल‍िस ने जांच शुरू की। जांच में सामने आया कि महिला ने दोबारा हाईस्कूल-इंटरमीडिएट करने के दौरान अपनी उम्र कम दिखाई है। इसके बाद सिपाही भी बन गई। ऐसे में अब सिविल लाइंस थाने में महिला के साथ ही उसके पति को भी आरोपी बनाया गया है। पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है। 
पुल‍िस के अनुसार, हरदोई जिले के माधौगंज थाना क्षेत्र के चंपापुरवा गांव निवासी सरोज यादव यूपी पुलिस में सिपाही के पद पर तैनात हैं। इस समय उसकी तैनाती मुरादाबाद के महिला सिविल लाइंस थाने में है। पिछले कुछ सालों से उसकी अपने पत‍ि से अनबन चल रही है। इसी विवाद के चलते पिछले साल अक्‍टूबर माह में महिला सिपाही के पति अरविंद यादव ने एसएसपी को पत्र भेजकर अपनी पत्नी की शिकायत की थी। इसमें आरोप लगाया कि महिला सिपाही सरोज यादव ने शादी के बाद फर्जीवाड़ा कर अपने प्रमाण पत्रों में नाम बदलकर उम्र कम की है। इसके जरिए उसने पुलिस में नौकरी हासिल कर ली थी। इस शिकायत की जांच सीओ कोतवाली इंदु सिद्धार्थ को सौंपी गई।
पुल‍िस जांच में सामने आई ये बात
जांच में सामने आया कि महिला सिपाही सरोज यादव ने शादी के बाद फर्जीवाड़ा करके प्रमाणपत्रों में अपना नाम रीना यादव पुत्री जीत बहादुर जन्मतिथि 6 मई 1990 के स्थान पर सरोज यादव पुत्री जीत बहादुर जन्मतिथि 11 नवंबर 1992 करा ली। इसके बाद उसने हाईस्कूल, इंटरमीडिएट और बीए किया। इसी प्रमाण पत्रों के आधार पर वह पुलिस विभाग में सिपाही बनी थी।

From around the web