''हिंदूवादी संगठित न हुए तो 2029 में जिहादी होगा देश का प्रधानमंत्री''

 
1
मथुरा। डासना देवी मंदिर गाजियाबाद के महंत हिंदूवादी संत यति नरसिंहानंद सरस्वती गोवर्धन पहुंचे। उन्होंने गिरिराज तलहटी में पूजा कर गिरिराज प्रभु का दुग्धाभिषेक किया। यहां से वह रमणरेती आश्रम पहुंचे। इसके बाद उन्होंने वहां गोरक्षक दल के कार्यकर्ता व संत महंतों के साथ बैठक करते हुए हिंदुत्व पर चर्चा करते हुए कहा कि जिहाद भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लिए बड़ा खतरा बन रहा है। इस दौरान उन्होंने कहा कि हिंदूवादी लोग संगठित नहीं हुए तो 2029 तक भारत में जिहादी ही देश का प्रधानमंत्री के रूप में प्रतिनिधित्व करेगा, इसलिए देश भर में संत महंतों से चर्चा कर हिंदुत्व को जगाया जा रहा है। यह बात डासना देवी मंदिर के महंत हिंदूवादी संत यति नरसिंहानंद सरस्वती ने गोवर्धन में गोरक्षक दल व ब्रज के संतों के बीच कही।
जिहादी दुनिया को मिटाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि हिंदूवादी विचाराधारा के लोग संगठित नहीं हुए तो 2029 में भारत में जिहादी ही प्रधानमंत्री बनकर प्रतिनिधित्व करेगा। उन्होंने कहा कि भारत में जिहादियों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। 
पत्रकारों से वार्ता करते हुए यति नरसिंहानन्द ने बताया कि हिंदुओं के धार्मिक स्थल, मथुरा में कृष्ण जन्मभूमि, अयोध्या का राम मंदिर, काशी विश्वनाथ मंदिर, सोमनाथ मंदिर आदि जिहादियों ने तोड़े हैं। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व को जगाने के लिए पूरे भारत वर्ष के संत महंतों से मिलने के लिए निकले हैं। सनातन धर्म, संस्कृति और माता बहनों की अस्मत बचाने के लिए प्राणों की आहुतियां क्यों न देनी पड़ें देंगे। लेकिन कट्टरपंथी विचारधारा के जिहादियों को भारत की सनातनी धर्म संस्कृति से नही खेलने देंगे। मंच संचालन भगवत प्रवक्ता पूरन कौशिक व हरिओम शर्मा ने किया।

From around the web