योगी ने किया कैंसर अस्पताल में बने कोविड वार्ड का निरीक्षण, बुधवार से वाजपेयी कोरोना अस्पताल में भी संक्रमितों की भर्ती

 
न

लखनऊ,- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को यहां कैंसर अस्पताल में बने 100 शैया वाले कोविड वार्ड का शुभारम्भ किया और निरीक्षण किया।

श्री योगी ने सुल्तानपुर रोड स्थित कैंसर अस्पताल का दौरा किया । इस अवसर पर उन्होंने चिकित्सालय का निरीक्षण किया तथा अस्पताल में रोगियों के लिए उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अधिकारियों को स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के सन्दर्भ में आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिये।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोविड बेड की संख्या निरन्तर बढ़ायी जा रही है और इसी क्रम में चिकित्सा शिक्षा विभाग द्वारा कैंसर संस्थान में ऑक्सीजन एवं वेंटिलेटर युक्त 100 बेड के कोविड हॉस्पिटल की व्यवस्था की गयी है। यहां आज से कोविड मरीज भर्ती हो सकेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड संक्रमण की दर में कमी आ रही है। स्वस्थ होकर डिस्चार्ज होने वाले लोगों की संख्या पिछले 24 घंटे में संक्रमण के नये मामलों की संख्या से अधिक रही है। उत्तर प्रदेश सर्वाधिक टेस्टिंग करने वाला राज्य है। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण से गांवों को सुरक्षित रखने के लिए पांच मई से प्रदेशव्यापी विशेष कोविड टेस्टिंग अभियान प्रारम्भ किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि मानवता की सेवा सबसे बड़ी सेवा है। कोविड मरीजों के इलाज व देखभाल में कार्यरत सभी चिकित्सा कर्मियों को प्रोत्साहन स्वरूप वर्तमान वेतन एवं मानदेय का 25 प्रतिशत अतिरिक्त प्रदान किया जाएगा। प्रदेश सरकार स्वास्थ्य क्षेत्र में जनशक्ति बढ़ाते हुए मेडिकल एवं नर्सिंग के अन्तिम वर्ष के छात्र-छात्राओं को मानवता की सेवा का अवसर दे रही है। इस कार्य के लिए उन्हें उचित मानदेय प्रदान किया जाएगा।

श्री योगी ने कहा कि हम सभी को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में टीम वर्क के साथ आगे बढ़ना होगा। कोविड अस्पतालों में वरिष्ठ चिकित्सक नियमित राउण्ड लें। सभी निजी एवं सरकारी कोविड अस्पताल में मरीज के परिजनों को दिन में एक बार मरीज के स्वास्थ्य की अद्यतन स्थिति की जानकारी दी जाए। उन्होंने कहा कि आपदा की इस स्थिति में मरीजों तथा उनके परिजनों से पूरी संवेदनशीलता के साथ व्यवहार होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सभी जिलो में ऑक्सीजन, रेमडेसिविर व अन्य जीवनरक्षक दवाओं की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित करायी गयी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की लड़ाई में वैक्सीन एक कारगर हथियार है। राज्य सरकार ने 18 से 44 वर्ष आयु वर्ग के लोगों का निःशुल्क टीकाकरण कार्यक्रम प्रदेश में प्रारम्भ किया है। साथ ही, 45 वर्ष से अधिक आयु के लोगों का टीकाकरण कार्य भी यथावत जारी है।

इस अवसर पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, चिकित्सा शिक्षा राज्यमंत्री संदीप सिंह, मुख्य सचिव आर के तिवारी सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

बुधवार से होगी अटल बिहारी वाजपेयी कोरोना अस्पताल में संक्रमितों की भर्ती

इसी बीच  लखनऊ के अवध शिल्प ग्राम में बने 450 बेडों के अटल बिहारी वाजपेयी कोरोना अस्पताल की शुरूआत पांच मई यानी बुधवार से होगी और इसी दिन से ही कोरोना संक्रमितों को यहां भर्ती किया जाएगा।
इसके बाद लखनऊ में बड़ी संख्या में एल 2 और एल 3 स्तर के कोरोना संक्रमितों को काफी राहत मिलेगी। हालांकि इसे पहले ही शुरू हो जाना चाहिए था, लेकिन स्टाफ की कमी की वजह से देर हुई।
डीआरडीओ की तरफ से तैयार किए इस कोविड अस्पताल में 24 घंटे ऑक्सीजन की आपूर्ति के साथ-साथ वेंटिलेटर और ऑक्सीजन बेडों की सुविधा है, ताकि मरीजों को किसी भी प्रकार की कोई समस्या न आए। कोविड अस्पताल में सेना मेडिकल कोर की मदद से चिकित्सकीय सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। डीआरडीओ के इस अस्पताल में सीधे भर्ती की व्यवस्था नहीं होगी। रोजाना खाली बेड के आधार पर लालबाग स्थित कोविड कमांड सेंटर से सीएमओ प्रशासन मरीजों को एम्बुलेंस से इस अस्पताल में भेजेगा।
दो दिन पूर्व सीएम योगी ने अटल बिहारी वाजपेयी कोरोना अस्पताल का निरीक्षण किया था और आवश्यक दिशा निर्देश दिए थे। इसके बावजूद पैरा मेडिकल और स्वास्थ्य कर्मियों की कमी की वजह से इसे शुरू करने में समय लग गया। जबकि स्थानीय स्तर पर सभी सुविधाएं उपलब्ध करा दी गई थीं।

From around the web