बागपत का कुख्यात एवं इनामी बदमाश धर्मेंद्र किरठल देहरादून से गिरफ्तार, हत्या के 15 से अधिक मुकदमेंं दर्ज

 
1
मेरठ। पश्चिमी उप्र के 50 हजारी कुख्यात धर्मेंद्र किरठल को देहरादून से एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया। एसटीएफ और मेरठ पुलिस को धर्मेंद्र किरठल की काफी समय से तलाश थी। कुख्यात धर्मेंद्र किरठल के खिलाफ 49 मुकदमें दर्ज हैं। इनमें हत्या के ही 15 से ज्यादा मुकदमें हैं। इसके अलावा लूट व रंगदारी के मुकदमें भी उसके खिलाफ दर्ज हैं। जिनमें से ज्यादातर में उसकी जमानत हो चुकी है, जबकि कुछ मुकदमें खत्म हो चुके हैं। बताया गया कि 28 साल पहले उसके खिलाफ लूट का पहला मुकदमा रमाला थाने में दर्ज हुआ था। इसके बाद से धर्मेंद्र किरठल लगातार अपराधिक वारदातों को अंजाम देता रहा। कुख्यात पश्चिमी यूपी के अलावा उत्तराखंड, दिल्ली और हरियाणा में भी गिरोह बनाकर अपराध करता था। बीते वर्ष 12 दिसंबर को किरठल गांव में किसान इरशाद अली की चुनावी रंजिश को लेकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले में धर्मेंद्र किरठल फरार चल रहा था। इससे पहले शासन के निर्देश पर पुलिस ने उसकी 60 लाख कीमत की संपत्ति कुर्क कर दी थी। बाद में आईजी प्रवीण कुमार ने उसके ऊपर 50 हजार का इनाम घोषित कर दिया था। 
पुलिस के अनुसार पिछले पंचायत चुनाव में धर्मेंद्र किरठल की मां सुरेश देवी जिला पंचायत सदस्य और पत्नी सुदेश देवी ग्राम प्रधान बनी थीं। इस बार भी उसके परिजन चुनाव लड़ने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस के लगातार दबाव के चलते वह ऐसा नहीं कर पाए। 
पिछले दिनों चुनाव के दौरान धर्मेंद्र किरठल के गांव के आसपास गतिविधियों की सूचना पुलिस को मिली थी। तब पुलिस ने ड्रोन कैमरों से जंगल को खंगाला था, लेकिन उसका कोई सुराग नहीं मिला था।

From around the web